Horticulture

अमरूद की बागवानी से बढ़ रही है आमदनी

प्रयागराज: अब खेती के साथ बारी लोग भूलते जा रहे है, मगर खेती के साथ बारी मन से किया जाये तो आमदनी बढ़ जाती है। कुछ ऐसा ही उदाहरण फुलपुर ब्लाक के वीरभानपुर गांव में देखने को मिलता है। वीरभानपुर गांव के किसान सिद्धिनाथ मौर्य को कोई 7 वर्ष पूर्व अपने परिवार का खर्च चलाना …

अमरूद की बागवानी से बढ़ रही है आमदनी Read More »

गांव में ही मिल रहा है रोजगार, जल-जीवन-हरियाली योजना बन रहा है जीविका का आधार

मंगरूआ पटना: लॉकडाउन के कारण जिस तरह से प्रवासी मजदूर गांव लौट रहे हैं वैसे में बाहर से अपने गांव लौटे ग्रामीणों को लेकर एक तरफ गांव वालों के मन में इनके संक्रमित होने को लेकर आशंका के बादल तो हैं, वहीं इनके लौटने से गांव में चहल पहल है। कहीं क्वारंटिन सेंटर सजा हुआ …

गांव में ही मिल रहा है रोजगार, जल-जीवन-हरियाली योजना बन रहा है जीविका का आधार Read More »

एक इंजीनियर की रूफ गार्डन में गुलजार होता जीवन और खिलखिलाते पौधे

गोविंद नारायण सिंह बरेली: पेड़ पौधे हमारे जीवन का बिल्कुल वैसा ही आधार है जैसे भोजन और जल । हालांकि भोजन और जल भी अप्रत्यक्ष रूप से बहुत हद तक पौधों पर निर्भर है । आदिकाल से ही मानव पेड़ पौधों की अहमियत समझता था ,प्रकृति की अहमियत जानता था इसीलिए दुनिया में विकसित हर …

एक इंजीनियर की रूफ गार्डन में गुलजार होता जीवन और खिलखिलाते पौधे Read More »

एक शिक्षक का बागवानी प्रेम…

रविशंकर सिंह उत्तम खेती मध्यम बान। अधम चाकरी भीख निदान॥ अर्थ – सर्वश्रेष्ठ व्यवसाय खेती (कृषि) है। मध्यम कोटि का व्यवसाय वाणिज्य (व्यापार) है। नौकरी अधम है। इस लिहाज से देखें तो मेरे पुरखों का काम काफी उत्तम था यानी वे किसान थे। हालाकि छोटी जोत के किसान परिवारों की विडंबना ये भी रही है …

एक शिक्षक का बागवानी प्रेम… Read More »

बोआई के बाद न दें पानी, 15 दिन पर छिड़कें यूरिया पंचायत खबर टोली मऊ : पशुपालन से संबंधित किसानों के लिए यह सचेत होने का समय है। हरा चारा के लिए बरसीम की बोआई का यह श्रेष्ठ काल चल रहा है। बोआई के दौरान गहरी सिंचाई व पलेवा करने के बाद मिट्टी बैठ जाने …

Read More »