Panchayat Toli

वैशाली के गराही ग्राम पंचायत और उसके आसपास का जल स्रोतों (कुआं) का ऑडिट

डॉ शंभु कुमार सिंह वैशाली जिलान्तर्गत गराही ग्राम पंचायत पड़ता है जिसमें मुकुंदपुर गराही ,महिउद्दीनपुर गराही, कमालपुर, चकमलही जो दरअसल चकबाजो मलाही है, बंगरा, मेथुरा पुर और धंधुआ का लंका टोला मुख्यतः आता है। गांव में पहले  पीने हेतु पानी के लिये केवल कुआं का ही उपयोग किया जाता था। गराही छोटा सा ही गांव …

वैशाली के गराही ग्राम पंचायत और उसके आसपास का जल स्रोतों (कुआं) का ऑडिट Read More »

चंद्रशेखरजी प्रधानमंत्री क्यों बने?

अरविंद कुमार सिंह, वरिष्ठ पत्रकार 23 अक्तूबर 1990 को चंद्रशेखरजी से उनके निवास पर मिला था और बातचीत की थी तोे सारे समीकरण पक्ष में होने और तमाम चर्चाओं के बाद भी प्रधानमंत्री बनने को तैयार नहीं थे। देश चुनाव के कगार पर खड़ा था। वीपी सिंह की सरकार तो मंडल आयोग की रिपोर्ट लागू …

चंद्रशेखरजी प्रधानमंत्री क्यों बने? Read More »

चंद्रशेखरजी के जीवन में अपनी माटी-पानी, बागी बलिया की धरती का था असर

हरिवंश वरिष्ठ पत्रकार, उप सभापति राज्यसभा आज चंद्रशेखरजी की जयंती है. ‘बागी बलिया’ के सपूत. अपनी राह गढ़ने और बनानेवाले जननेता. सीधे प्रधानमंत्री बननेवाले राजनेता. अपने प्रधानमंत्रित्व काल में देश को गंभीर चुनौतियों से निकालनेवाले कुशल प्रशासक. आजीवन देसज चेतना के साथ रहनेवाले जमीनी, सरोकारी नेता. देश में ‘युवा तुर्क’ के नाम से मशहूर. उन …

चंद्रशेखरजी के जीवन में अपनी माटी-पानी, बागी बलिया की धरती का था असर Read More »

कोरोना के प्रकोप बीच (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के मतदान का पहला चरण संपन्न

आलोक रंजन लखनऊ: एक तरफ उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कोरोना के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। दूसरी तरफ (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के मतदान के पहले चरण के आंकड़े। कोरोना के फैलाव को लेकर पंचायत चुनाव बूथों पर सावधानियां जरूर बरती गई हैं लेकिन साथ ही साथ प्रत्याशी …

कोरोना के प्रकोप बीच (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के मतदान का पहला चरण संपन्न Read More »

बिहार में धान की सरकारी खरीद में गड़बड़झाला…खरीद हुई देर से शुरु, जल्दी बंद.. फिर भी डेढ़ गुना से अधिक खरीद

अमरनाथ झा पटना: बिहार में धान की सरकारी खरीद में अजीब-सा गड़बड़झाला नजर आता है, लेकिन ठीक से समझ में नहीं आता। इस वर्ष रिकार्ड 35 लाख टन धान की सरकारी खरीद हुई जबकि खरीद कम दिनों तक हुई और धान की उपज कम होने के आंकड़े आए हैं। आमतौर पर बीते पांच-सात वर्षों से …

बिहार में धान की सरकारी खरीद में गड़बड़झाला…खरीद हुई देर से शुरु, जल्दी बंद.. फिर भी डेढ़ गुना से अधिक खरीद Read More »

पंचायत-प्रतिनिधि को मनमाने ढंग से नहीं लोकप्रहरी की अनुशंसा पर हटायें-हाईकोर्ट

पटना: बिहार में पंचायती राज संस्थानों के संचालन में एक बड़ी गड़बड़ी को पटना हाईकोर्ट ने पकड़ा है और कहा है कि पंचायत-प्रतिनिधि को मनमानी ढंग से नहीं हटाया जा सकता। उल्लेखनीय है कि पंचायती राज अधिनियम के अनुसार पंचायती राज संस्थानों के निर्वाचित प्रतिनिधियों पर कोई भी कार्रवाई “लोक-प्रहरी” की अनुशंसा के बिना नहीं …

पंचायत-प्रतिनिधि को मनमाने ढंग से नहीं लोकप्रहरी की अनुशंसा पर हटायें-हाईकोर्ट Read More »

गर्मी की तपिश,शादियों का मौसम,दुल्हन है परेशान…तो ये है समाधान

शैल नयी दिल्ली: गर्मी का मौसम आ चुका है सर्दी की ठंडी—ठंडी हवा हमें अलविदा कर चुकी है,बसंत का बयार भी चला गया और दस्तक दे रहा है गर्मी। गर्मी यानी सूरज की तपिश लेकिन शादियों का मौसम। हालांकि अभी अप्रैल के सिर्फ 10 दिन ही बीते हैं लेकिन गर्म हवाओं के थपेड़े हमें झुलसाने …

गर्मी की तपिश,शादियों का मौसम,दुल्हन है परेशान…तो ये है समाधान Read More »

समय पर नहीं हुआ पंचायत चुनाव तो कायम होगा बीडीओ राज

पंचायत खबर टोली पटना: बिहार में पंचायत चुनाव कई कारणों से टलते नजर आ रहे हैं। यदि समय नहीं हुए तो पंचायती राज संस्थाओं में बीडीओ राज कायम हो जाएगा। जिन कार्यों की जिम्मेवारी पंचायती राज संस्थाओं की होती है, उन्हें संपन्न करने की जिम्मेवारी अफसरों की होगी। जब तक पंचायती राज संस्थाओं के नव …

समय पर नहीं हुआ पंचायत चुनाव तो कायम होगा बीडीओ राज Read More »

कोरोना की दहशत… “migrant labourers प्रवासी कामगारों” का गांव लौटने का सिलसिला हुआ शुरू..

अमरनाथ झा पटना: कोरोना की दूसरी लहर की धमक आते ही प्रवासी कामगारों में आतंक फैल गया है और वे जैसे तैसे वापस लौटने लगे हैं। बीते साल की देशबंदी का आतंक उनके चेहरे पर साफ झलक रहा है। अभी महाराष्ट्र, पंजाब व दिल्ली आदि से “migrant labourers प्रवासी कामगारों” का वापस लौटना जारी है। …

कोरोना की दहशत… “migrant labourers प्रवासी कामगारों” का गांव लौटने का सिलसिला हुआ शुरू.. Read More »

गांव से लौटकर …अपने ही लोगों ने बूढ़ी मां का रास्ता तक रोकने की रच दी थी साजिश

  हरेश कुमार कई सालों के बाद गांव गया था। गांव से लौटकर … मन खिन्न हो गया। जिनको बाबूजी ने बसाया था, उन लोगों ने गांव में रह रही मेरी बूढ़ी मां का रास्ता रोकने के लिए मुकम्मल तैयारी कर ली थी। सारे अपने ही लोग थे। मेरे चचेरे भाई को आगे कर मकान …

गांव से लौटकर …अपने ही लोगों ने बूढ़ी मां का रास्ता तक रोकने की रच दी थी साजिश Read More »