जल संरक्षण

वैशाली के गराही ग्राम पंचायत और उसके आसपास का जल स्रोतों (कुआं) का ऑडिट

डॉ शंभु कुमार सिंह वैशाली जिलान्तर्गत गराही ग्राम पंचायत पड़ता है जिसमें मुकुंदपुर गराही ,महिउद्दीनपुर गराही, कमालपुर, चकमलही जो दरअसल चकबाजो मलाही है, बंगरा, मेथुरा पुर और धंधुआ का लंका टोला मुख्यतः आता है। गांव में पहले  पीने हेतु पानी के लिये केवल कुआं का ही उपयोग किया जाता था। गराही छोटा सा ही गांव …

वैशाली के गराही ग्राम पंचायत और उसके आसपास का जल स्रोतों (कुआं) का ऑडिट Read More »

ग्रामीण पेयजल आपूर्ति प्रणाली की निगरानी के लिए सेंसर आधारित प्रणाली की पहल

नई दिल्ली: गांवों में ग्रामीण पेयजल आपूर्ति प्रणाली की निगरानी के लिए, केन्द्र सरकार के जल शक्ति मंत्रालय ने डिजिटल मार्ग अपनाने का निर्णय लिया है। छह लाख से अधिक गांवों में जल जीवन मिशन के कार्यान्वन की प्रभावी निगरानी के लिए सेंसर आधारित आईओटी उपकरण का इस्तेमाल करने का फैसला लिया गया है। इसके …

ग्रामीण पेयजल आपूर्ति प्रणाली की निगरानी के लिए सेंसर आधारित प्रणाली की पहल Read More »

सरकार ने जल संसाधन के क्षेत्र में भारत और जापान के बीच सहयोग को मंजूरी दी

जल शक्ति मंत्रालय के जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग तथा जापान के भूमि, आधारभूत संरचना, परिवहन और पर्यटन मंत्रालय के जल और आपदा प्रबंधन ब्यूरो के बीच सहयोग को लेकर एक करार किया गया। इसके तहत दोनों देशों के बीच सूचना, ज्ञान, प्रौद्योगिकी और विज्ञान आधारित अनुभव के आदान-प्रदान को बढ़ाने के …

सरकार ने जल संसाधन के क्षेत्र में भारत और जापान के बीच सहयोग को मंजूरी दी Read More »

देश का पहला गाँव, जिसके हर घर में सोलर इंडक्शन पर पकता है खाना

मंगरूआ मध्यप्रदेश के बैतूल जिले का एक छोटा-सा अनुसूचित जनजाति (शेड्यूल ट्राइब) बाहुल्य गाँव है- बाचा। आजकल यह छोटा-सा गाँव अपने बड़े नवाचारों के कारण चर्चा में बना हुआ है। वर्ष 2016-17 से बाचा ने बदलाव की करवट लेनी शुरू की। आज बाचा न केवल मध्यप्रदेश बल्कि भारत के सभी गाँवों के लिए प्रेरणा स्रोत …

देश का पहला गाँव, जिसके हर घर में सोलर इंडक्शन पर पकता है खाना Read More »

गांव में ही मिल रहा है रोजगार, जल-जीवन-हरियाली योजना बन रहा है जीविका का आधार

मंगरूआ पटना: लॉकडाउन के कारण जिस तरह से प्रवासी मजदूर गांव लौट रहे हैं वैसे में बाहर से अपने गांव लौटे ग्रामीणों को लेकर एक तरफ गांव वालों के मन में इनके संक्रमित होने को लेकर आशंका के बादल तो हैं, वहीं इनके लौटने से गांव में चहल पहल है। कहीं क्वारंटिन सेंटर सजा हुआ …

गांव में ही मिल रहा है रोजगार, जल-जीवन-हरियाली योजना बन रहा है जीविका का आधार Read More »

जल की महत्ता बताती रणविजय निषाद की पुस्तक जल संचेतना

मनीश अग्रहरि दुनिया भर में जल की समस्या है फलत: जल एक गंभीर विषय है। लेकिन सोशल मीडिया के इस दौर मेंं किताब कौन पढ़ना चाहता है बावजूद इसके कोरोना महामारी के दौर में लोगों में पाठकों में किताबों के प्रति आकर्षण देखा जा रहा है। आप भी यदि इस लॉक डाउन पीरियड में गंभीर …

जल की महत्ता बताती रणविजय निषाद की पुस्तक जल संचेतना Read More »

लॉक डाउन में गंगा हुई निर्मल, कृष्ण लीला का ग्वाह बनी यमुना भी हुई साफ

आलोक रंजन,युवा पत्रकार बनारस: सुन्दर सुभूमि भैया भारत के देशवा से, मोरे प्रान बसे गंगा धार रे बटोहिया. गंगा रे जमुनवा के झगमग पनिया से, सरजू झमकि लहरावे रे बटोहिया. ब्रह्मपुत्र पंचनद घहरत निशिदिन, सोनभद्र मीठे स्वर गावे रे बटोहिया. अपर अनेक नदी उमडि घुमडि नाचे, जुगन के जदुआ चलावे रे बटोहिया। इस कोरोना महामारी …

लॉक डाउन में गंगा हुई निर्मल, कृष्ण लीला का ग्वाह बनी यमुना भी हुई साफ Read More »

जखनी गांव के देश का पहला जलग्राम बनने की कथा

उमाशंकर पांडे अक्सर कहा जाता है कि ‘हिम्मते मरदा, मददे खुदा’। लेकिन एक मर्द ही क्यों पूरा का पूरा गांव, और न​ सिर्फ मर्द बल्कि स्त्री पुरूष जब  अपने गांव की तकदीर बदलने में लग जायें तो सिर्फ खुदा ही क्यों, पूरी कायनात उसके सामने नतमस्तक होती है और गांव वालों की खुद के परिश्रम …

जखनी गांव के देश का पहला जलग्राम बनने की कथा Read More »

पानी से आर्सेनिक हटाने में मददगार हो सकते हैं कृषि अपशिष्ट

शुभ्रता मिश्रा भारतीय वैज्ञानिकों ने कृषि अपशिष्टों के उपयोग से ऐसे जैव अवशोषक बनाए हैं, जो प्रदूषित जल से आर्सेनिक को सोखकर अलग कर सकते हैं। वाराणसी स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (बीएचयू) और लखनऊ स्थित अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संस्थान के शोधकर्ताओं द्वारा एक ताजा अध्ययन के दौरान विकसित इन अवशोषकों को तैयार करने में अमरूद …

पानी से आर्सेनिक हटाने में मददगार हो सकते हैं कृषि अपशिष्ट Read More »

700 महिला प्‍लंबरों को प्रशिक्षण देगा वी आर वाटर फाउंडेशन इंडिया

समूचे भारत में कुल 1600 प्लंबर किये जायेंगे प्रशिक्षित,रोका के वी आर वाटर फाउंडेशन इंडिया ने प्‍लंबरों को कौशल प्रदान करने के लिये इंडियन प्‍लंबिंग स्किल्‍स के साथ किया एमओयू पर हस्‍ताक्षर संतोष कुमार सिंह नई दिल्‍ली: भारत के गांवो में बहुत सारे परंपरागत कौशल हैं और हमारी महिलायें तो न जाने किन—किन गुणों की …

700 महिला प्‍लंबरों को प्रशिक्षण देगा वी आर वाटर फाउंडेशन इंडिया Read More »