Bhojpuri

हिंदी भुला जानी…

 केदारनाथ सिंह पर किस तरह मिलूँ कि बस मैं ही मिलूँ, और दिल्‍ली न आए बीच में क्‍या है कोई उपाय! – ‘ गाँव आने पर’ जहाँ गंगा आ सरजू ई दूनो नदी क संगम बा, ओसे हमरे गाँव के दूरी लगभग आठ किलोमीटर होई। दूनो नदी क बीच में पड़ला के वजह से एह …

हिंदी भुला जानी… Read More »

…दूर रहकर भी कहां रहा कभी गांव से दूर

यह सिवान, रघुनाथपुर थाना का कौसड़ स्टेशन है मगर आज भी यहां से न कोई ट्रेन गुजरती है, न बस। आज भी यह गांव है। मेरा गांव। हालांकि सुना है कि सरयू ( घाघरा ) के किनारे गांव के दक्षिण में जो बांध है वह 20 फीट चौड़ी पक्की सड़क में तब्दील हो रही है। …

…दूर रहकर भी कहां रहा कभी गांव से दूर Read More »

​तीस्ता की याद हुई ताजा, बहन सृष्टि ने दी अभूतपूर्व श्रद्धाजलि

संतोष कुमार सिंह सारण: किसी भी कलाकार के लिए इतनी बड़ी श्रद्धाजलि न कभी किसी ने देखा होगा और न ही सुना होगा। लेकिन इतिहास नये रूप में सामने इतनी जल्दी सामने आयेगा इसकी कल्पना तो शायद ही किसी को रही होगी। कुछ ऐसा ही दृश्य था छपरा जिला अंतर्गत रिवीलगंज निवासी व टीवी कलाकार …

​तीस्ता की याद हुई ताजा, बहन सृष्टि ने दी अभूतपूर्व श्रद्धाजलि Read More »

…अबहीं नाम भइल बा थोरा, करब याद..जब ई छुट जाई तन मोरा

निराला सब अकेले जाते हैं, अकेला भी अकेले गये लेकिन वे समूह के मानस में हमेशा रहेंगे बात तब की है,जब बिहार की राजनीति में लालू प्रसाद यादव का ताजा—ताजी उभार हो रहा था. अपने खास अंदाज की वजह से मशहूर हो चुके थे. लालू प्रसाद के उभार के वक्त एक गाना बहुत मशहूर हुआ …

…अबहीं नाम भइल बा थोरा, करब याद..जब ई छुट जाई तन मोरा Read More »

भोजपुरी गीत-गवनई की परंपरा को यूनेस्को द्वारा सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मिली मान्यता

अमितेश सिंह वाराणसी:भोजपुरी की गीत—गवनई की परंपरा को भोजपुरी सिनेमा से जोड़ते हुए हमेशा यह तर्क दिया जाता रहा है, कि भोजपुरी गानों मे अश्लीलता है। ज्यादातर गाने द्विअर्थी होते हैं लेकिन इन्हीं भोजपुरी की गीत गवनई की परंपरा को यदि यूनेस्को द्वारा विश्व की सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मान्यता दी जाये तो यह …

भोजपुरी गीत-गवनई की परंपरा को यूनेस्को द्वारा सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मिली मान्यता Read More »

बढ़ल राउर सम्मान,गदगद भईल मनवा..कब बढ़ी भोजपुरी के सम्मान प्रधानमंत्री जी..ट्वीटियाई भोजपुरिया

संतोष कुमार सिंह गाजीपुर:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर में भोजपुरी में कहा था…’आज सभी के सहयोग से केंद्र में सरकार बनवले हईं। आप लोगन से मिल कै मनवा गदगद हो गईल।’ पूर्व गृहमंत्री चिदंबरम ने भोजपुरी में लोकसभा में कहा था… ‘हम रउवा सबके भावना समझतानी. …।। अब ये लोग कितना समझे ये भोजपुरी भाषी …

बढ़ल राउर सम्मान,गदगद भईल मनवा..कब बढ़ी भोजपुरी के सम्मान प्रधानमंत्री जी..ट्वीटियाई भोजपुरिया Read More »