पंचायत रिपोर्ट कार्ड

मनरेगा में महिलाओं की भागीदारी हुई कम, पुरूष कामगारों को मिली तवज्जो

पंचायत खबर टोली नयी दिल्ली: कोरोना महामारी के दौरान अक्सर ये खबरें आ रही थीं कि जो प्रवासी मजदूर शहर से गांव की ओर लौटें हैं उन्हें सरकार के मनरेगा योजना के तहत रोजगार दिया जा रहा है ताकि वे गांव में रह सकें, जीविको पार्जन कर सकें और परिवार चला सकें। इस दौरान मनरेगा …

मनरेगा में महिलाओं की भागीदारी हुई कम, पुरूष कामगारों को मिली तवज्जो Read More »

बिहार में जन वितरण प्रणाली-चुनौतियाँ और सुधार की ज़रूरतें

 अनिन्दो बनर्जी और प्रतिमा कुमारी पासवान पटना: कोविड-19 महामारी के नियंत्रण के लिए देशभर में लागू किये गये लॉकडाउन तथा अन्य पाबंदियों की स्थिति में जन वितरण प्रणाली एक अद्वितीय जीवनरक्षक व्यवस्था के रूप में सामने आई है। दूसरे विश्वयुद्ध के समय से भुखमरी की रोकथाम के लिए चलाई जा रही यह व्यवस्था वर्ष 2013 …

बिहार में जन वितरण प्रणाली-चुनौतियाँ और सुधार की ज़रूरतें Read More »

सात दिन के अंदर बनाना होगा राशन कार्ड,लाखों परिवारों को मिलेगा लाभ

अमरनाथ झा पटना:गरीबों को सस्ते दर पर अनाज देने की सरकारी योजनाओं की ढ़ोल चाहे जितनी पीटी जाए, लेकिन अक्सर भूख से मरने की खबरें भी आती रहती हैं। इसका कारण है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत सत्ते दर पर अनाज पाने के लिए जिस राशन कार्ड की जरूरत होती है, वह गांवों के …

सात दिन के अंदर बनाना होगा राशन कार्ड,लाखों परिवारों को मिलेगा लाभ Read More »

प्रति पंचायत 41 लाख रूपये के बजटीय आवंटन से सवरेंगी बिहार की ग्राम पंचायतें

कमलेश कुमार सिंह पटना: कोरोना महामारी के दौरान पंचायतों की महत्ती भूमिका से शायद ही किसी को इंकार होगा। प्र​वासियों के क्वारंटाईन से लेकर अनाज वितरण तक और अब मनरेगा व हर घर नल के जल योजना के अंतर्गत बाहर से गांव लौटे ग्रामीणों के जीविका के साधनों की व्यवस्था करने में पंचायतें अहम भूमिका …

प्रति पंचायत 41 लाख रूपये के बजटीय आवंटन से सवरेंगी बिहार की ग्राम पंचायतें Read More »

मनरेगा को दुरुस्त किया मोदी सरकार ने

नरेंद्र सिंह तोमर यह किसी से छिपा नहीं कि सोनिया गांधी की संप्रग सरकार का जहां भी हाथ पड़ा, वह चौपट ही हो गया। जिस किसी भी चीज को उसने छुआ, उसमें या तो भ्रष्टाचार व्याप्त हो गया या वह पूरी तरह बेअसर होकर रह गई या फिर उसमें दोनों ही दोष आ गए। मनरेगा …

मनरेगा को दुरुस्त किया मोदी सरकार ने Read More »

यह वक्त कांग्रेस बनाम बीजेपी का नहीं बल्कि लोगों के जीवन को बचाने का है

सोनिया गांधी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून, 2005 (मनरेगा) एक क्रांतिकारी और तर्कसंगत परिवर्तन का जीता जागता उदाहरण है। यह क्रांतिकारी बदलाव का सूचक इसलिए है क्योंकि इस कानून ने गरीब से गरीब व्यक्ति के हाथों को काम व आर्थिक ताकत दे भूख व गरीबी पर प्रहार किया। यह तर्कसंगत है क्योंकि यह …

यह वक्त कांग्रेस बनाम बीजेपी का नहीं बल्कि लोगों के जीवन को बचाने का है Read More »

मनरेगा को पुनर्जीवित किए जाने के साथ ही व्यापक सुधार की है दरकार

प्रो डॉ अश्विनी कुमार ‘कांग्रेस सरकार की विफलता का तथाकथित जीवित स्मारक’ बताया जाने वाला प्रतीक कोरोना संक्रमण के दौरान हुए राष्ट्रीय लॉक डाउन से प्रभावित लाखों प्रवासियों की दुर्दशा को कम करने और इससे प्रभावित ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नया आयाम देने के लिहाज से एक बार फिर अपने उदात्त स्वरूप में बिना किसी भेदभाव …

मनरेगा को पुनर्जीवित किए जाने के साथ ही व्यापक सुधार की है दरकार Read More »

कोरोना से बचे भी तो भी भ्र्ष्ट प्रशासन और जेसीबी वाले मुखिया जी से कैसे बचेंगे प्रवासी मजदूर

विनोद कुमार मिश्रा वरिष्ठ पत्रकार प्रवासी मजदूरों के सड़क यात्रा ,रेल यात्रा और अब हवाई यात्रा ने बिहार की उलझने बढ़ा दी है। पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना महामारी से निपटने के लिए एड़ी चोटी का दम लगा रही है भारत अपने संसाधनों और सूझ बुझ से अबतक इस महामारी से लड़ते हुए संक्रमण को …

कोरोना से बचे भी तो भी भ्र्ष्ट प्रशासन और जेसीबी वाले मुखिया जी से कैसे बचेंगे प्रवासी मजदूर Read More »

लॉकडाउन में शहर लॉक, परदेश से गांव लौटे मजदूरों का सहारा बनेगी मनरेगा

आलोक रंजन लखनऊ: कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन में एक तरफ जहां मजदूर शहर छोड़ने को मजबूर हुए वहीं गांव गुलजार है। हालाकि कामकाज की रफ्तार वहां भी धीमी है। बावजूद इसके ज​ब प्रधानमंत्री ने पंच प्रतिनिधियों से पंचायती राज दिवस पर बातचीत करते हुए यह पूछा कि अब तो केंद्र द्वारा भेजा गया …

लॉकडाउन में शहर लॉक, परदेश से गांव लौटे मजदूरों का सहारा बनेगी मनरेगा Read More »

राष्ट्रपति से मिला था ओडीएफ प्रमाण-पत्र, 20 फीसदी शौचालय अधूरे

जनपद पंचायत राजपुर की ग्राम पंचायतों में स्वच्छता अभियान के तहत बनवाए गए शौचालयों के निर्माण में करोड़ों रुपए की गड़बड़ी की गई। वहीं करीब 20 फीसदी आवास अब तक अधूरे हैं। ऐसा कोई भी पंचायत नहीं है जहां अधूरे शौचालय नहीं हैं। जब अधिकारियों को इसकी शिकायत मिली तो जांच के नाम पर महज …

राष्ट्रपति से मिला था ओडीएफ प्रमाण-पत्र, 20 फीसदी शौचालय अधूरे Read More »