ग्राम स्वास्थय

कोक नहीं काढ़ा की बढ़ी मांग, कोरोना में चाय की चुस्की भूल गर्म पानी का हो रहा है सेवन

अभिषेक राज कलौंजी पीस और आंवला रस पीकर भी कोरोना को ठेंगा न दिखा पाये बच्चन ठंढ़ा मतलब कोकोकाला और गरम-गरम चाय की चुस्की भूल लोग काढ़े का स्वाद ले आम लोग बढ़ा रहे हैं इम्युनिटी नई दिल्ली: महानायक अमिताभ बच्चन का वह कोरोना गीत जिसमें वो कहते हैं “बहुत इलाज बताते हैं जन-जनमानस सब, …

कोक नहीं काढ़ा की बढ़ी मांग, कोरोना में चाय की चुस्की भूल गर्म पानी का हो रहा है सेवन Read More »

कोरोनाकालीन संकट के बीच रामभरोसे चल रहा है जीवन, सबसे ज्यादा प्रभावित हैं बच्चे

संतोष कुमार सिंह राइट टू एजुकेशन (आरटीई) फोरम द्वारा 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के अधिकारों की अनदेखी एवं मौजूदा दौर की चुनौतियों पर आयोजित वेबिनार में वक्ताओं की राय नयी दिल्ली: कोविड—19 महामारी के दौरान सरकार ने लॉक डाउन की घोषणा की। स्वाभाविक रूप से सरकार ने जब ऐसा किया होगा तो …

कोरोनाकालीन संकट के बीच रामभरोसे चल रहा है जीवन, सबसे ज्यादा प्रभावित हैं बच्चे Read More »

घर लौटे प्रवासियों को कंडोम गिफ्ट करती बिहार सरकार

आलोक रंजन पटना: कोरोना काल में महामारी के संक्रमण से बचाव के नुस्खे के रूप में उभरे बिहार के क्वारंटाईन सेंटरों से भांति—भांति की खबरें आ रही हैं। कहीं भोजन व व्यवस्था को लेकर मारामारी है। तो कहीं मास्क और साबुन की छीना झपटी। कहीं योगा क्लास चल रहा है तो कहीं से देशी गानों …

घर लौटे प्रवासियों को कंडोम गिफ्ट करती बिहार सरकार Read More »

पंजवार तो झांकी है..अन्य गांव बाकी हैं

सिवान: कोरोना का कहर ​धीरे—धीरे बिहार के गांवों में पांव पसारने लगा है। सरकार की तैयारियां नाकाफी साबित हो रही है। लोग दहशत के माहौल में जीने को अभिशप्त हैं। खेती किसानी का समय है। प्रवासियों का गांव आना जाना इस माह में हमेशा से होता रहा है। इस बीच बिहार के एतिहासिक गांव पंजवार …

पंजवार तो झांकी है..अन्य गांव बाकी हैं Read More »

कोरोना की जंग जीतने में हरियाणा की पंचायतें दे रही हैं अहम योगदान

चंडीगढ़: कोरोना की जंग में शासन के सबसे निचली ईकाईं यानी पंचायत की भूमिका काफी अहम है। ​हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल इस बात को बखूबी समझ रहे हैं यही कारण है प्रदेश में कोरोना के जंग से लड़ने के लिए अपने चतुरंगिनी सेना यानी स्वास्थ्य कर्मचारी,पुलिस प्रशासन, जनवितरण विभाग के साथ ही ग्राम पंचायतों …

कोरोना की जंग जीतने में हरियाणा की पंचायतें दे रही हैं अहम योगदान Read More »

ग्रामीण इलाकों में 85 फीसदी आबादी किसी भी तरह के स्वास्थ्य बीमा से महरूम

एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश की 1.35 अरब की आबादी में महज 44 फीसदी लोगों के पास ही स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी है, वहीं ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य बीमा के हालात बेहहद खराब है जहां इस रिपोर्ट के अनुसार 85 फीसदी आबादी स्वास्थ्य बीमा कवर से महरूम है, जबकि 80 फीसदी शहरी आबादी इसका लाभ …

ग्रामीण इलाकों में 85 फीसदी आबादी किसी भी तरह के स्वास्थ्य बीमा से महरूम Read More »

छोटी जोत भी हो सकती है पोषण में कमी का कारण

उमाशंकर मिश्र छोटे आकार की जोत वाले परिवारों में पोषण युक्त खाद्य उत्पादों और कैलोरी उपभोग का स्तर बड़ी जोत के परिवारों की तुलना में कम पाया गया है। पूर्वी भारत के ओडिशा, झारखंड और बिहार के गांवों में घरेलू स्तर पर विभिन्न खाद्य उत्पादों के उपभोग और उनसे मिलने वाले पोषण की मात्रा का …

छोटी जोत भी हो सकती है पोषण में कमी का कारण Read More »

मोबाइल ऐप रखेगा ग्रामीण स्वास्थ्य पर नजर

शुभ्रता मिश्रा भारतीय शोधकर्ताओं ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ऑटोमेशन आधारित नई तकनीक विकसित की है, जिसके उपयोग से रक्तचाप और मधुमेह की पहचान तथा नियंत्रण में मदद मिल सकती है। इस मोबाइल आधारित टूल को हैदराबाद स्थित मेडिसिटी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल सांइसेज, सोसायटी फॉर हेल्थ एलाइड रिसर्च ऐंड एजुकेशन तथा तिरुवनंतपुरम के श्री चित्रा तिरुनल …

मोबाइल ऐप रखेगा ग्रामीण स्वास्थ्य पर नजर Read More »

कुपोषण से हृदय रोग तक लड़ने में मदद कर सकते हैं गांधी के सिद्धांत

दिनेश सी. शर्मा पैदल चलना, शारीरिक गतिविधियां, ताजा सब्जियों व फलों का सेवन, शर्करा, नमक तथा वसा वाले खाद्य पदार्थों का कम सेवन, तंबाकू तथा शराब से दूरी और पर्यावरणीय एवं व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखना। कुछ लोगों को ये बातें विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी गैर-संचारी एवं संचारी रोगों से बचाव के लिए जारी सलाह …

कुपोषण से हृदय रोग तक लड़ने में मदद कर सकते हैं गांधी के सिद्धांत Read More »

हिंसा प्रभावी देशों में गोली से कम पानी से ज्यादातर बच्चों की मौत— यूनिसेफ

यूनिसेफ की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक जिन देशों में लंबे समय से संघर्ष चल रहा है वहां 15 साल से ​कम आयु वर्ग के बच्चों में पानी संबधित रोगों का खतरा बहुत अधिक हुआ है, जो प्रत्यक्ष हिंसा में मरने वालों की अपेक्षा औसतन तीन गुणा है। इन इलाकों में बच्चों में होने वाली ज्यादातर …

हिंसा प्रभावी देशों में गोली से कम पानी से ज्यादातर बच्चों की मौत— यूनिसेफ Read More »