Model Village

प्रणव दा, तुस्सी ग्रेट हो, गोद लिए गांवों की चमका रहे किस्मत

पंचायत खबर टोली चंडीगढ़: प्रणब दा, तुस्सी ग्रेट हो! यह हम नहीं उन गांवों के लोग कह रहे हैं जिनकी किस्‍मत देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी चमका रहे हैं। प्रणब मुखर्जी ने विकास के दौड़ में पीछे रह गए गांवों को गोद लिया था। वह इन गांवों के विकास को लेकर खासे उत्साहित हैं। …

प्रणव दा, तुस्सी ग्रेट हो, गोद लिए गांवों की चमका रहे किस्मत Read More »

मेरा गांव आमी अर्थात अम्बिका स्थान

ब्रज किशोर सिंह बिहार के सारण जिले में मेरा गांव दिघवारा स्टेशन से चार किलोमीटर पश्चिम छपरा-सोनपुर राष्ट्रीय उच्च पथ पर स्थित है। पटना से इसकी दूरी 52 किलोमीटर एवं छपरा से 25 किलोमीटर है। यह गंगा के किनारे अवस्थित है जिसकी धाराएं कभी पास आती है एवं कभी दूर जाती है। आज से 70 …

मेरा गांव आमी अर्थात अम्बिका स्थान Read More »

गांव की आत्मा को बचाने की जरूरत

डाॅ हरिकेश सिंह यह प्रश्न मेरे मन में अक्सर आता है कि गांधीजी ने जिस ग्राम-स्वराज का सपना देखा था, वह कैसा था। यह जरुर है कि जिस संदर्भ में गांधी ने गांव को समझा और गांव की लोकतांत्रिक प​द्धति को ऐसा सुदृढ़ बनाने का प्रयास किया कि कोई व्यक्ति केवल गांव के जीवन को …

गांव की आत्मा को बचाने की जरूरत Read More »

सबको अपना मानता है गांव

डॉ गोपाल सिंह भारतीय ग्रामीण परिवेश को समझने के लिए हमें थोड़ा-सा पीछे जाना पड़ेगा। और इसके लिए मुंशी प्रेमचंद की रचना से थोड़ी जानकारी लेनी होगी। उनकी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए डॉ सुप्रभात सिंह ने अपने उपन्यास-अमर अवध बेतरणी में लिखा कि आज का गांव ग्रामीण परंपराओं को संजोए हुए है। गांव में …

सबको अपना मानता है गांव Read More »

शहरों की काॅपी बने गांव,खत्म हो रही है साझी विरासत की थाती

शैलेन्द्र कुमार सिंह मंजिल करीब आते ही एक पांव कट गया. चौड़ी हुई सड़क तो मेरा गांव कट गया. मशहूर शायर मुनव्वर राना की ये लाइनें मेरे गांव अजमतउल्ला गंज पर सटीक बैठती है जो पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में पड़ता है। इस गांव में पिछले 40 साल में कई …

शहरों की काॅपी बने गांव,खत्म हो रही है साझी विरासत की थाती Read More »

पंचायती राज व्यवस्था की बेहतरी की दिशा में आगे बढ़ता हरियाणा, बदली है गांव की सूरत

संतोष कुमार सिंह कहते हैं भारत की आत्मा गांव में बसती है क्योंकि देश की अधिकांश आबादी गांव में निवास करती है। आज देशभर में लगभग ढाई लाख ग्राम पंचायतें निरंतर भारत के विकास में अहम भूमिका निभा रही है। इन ढाई लाख पंचायतों में हरियाणा की 6500 पंचायतें भी शामिल हैं जिनको सशक्त बनाने …

पंचायती राज व्यवस्था की बेहतरी की दिशा में आगे बढ़ता हरियाणा, बदली है गांव की सूरत Read More »

गांव स्मार्ट हों तभी शहर हो पाएंगे खुशहाल

शहरों की ओर लगातार हो रहे पलायन को रोकने के लिए गांवों के हालात बेहतर बनाने होंगे देश में करीब ढाई लाख पंचायतें हैं। अगर एक पंचायत के विकास की जिम्मेदारी सीएसआर वाली एक कंपनी को दे दी जाए तो गांवों में बदलाव दिखने लगेगा उमेश चतुर्वेदी, वरिष्ठ पत्रकार मानसून के असमान वितरण के चलते ग्रामीण …

गांव स्मार्ट हों तभी शहर हो पाएंगे खुशहाल Read More »

सांसद अश्वनी चौबे के आदर्श गांव के अधूरे सपने..

पंचायत खबर टोली -आदर्श गांव की घोषणा के बीते 3 साल 3 माह..सांसद सिर्फ दो बार गए बड़ौरा; नहीं जाते अधिकारी कैमूर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर के गांवों को आदर्श बनाने का सपना दिखाया। सांसदों को गांव आदर्श बनाने का जिम्मा दिया। बड़े ही जोर शोर से गांव को गोद लिया गया इन …

सांसद अश्वनी चौबे के आदर्श गांव के अधूरे सपने.. Read More »

भुला दी गई एक अच्छी योजना

रिजवान निजामुद्दीन अंसारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांवों के विकास के लिए सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत की लेकिन इसे लेकर सांसदों ने कोई उत्सुकता नहीं दिखाई जिससे इस पर सवाल खड़े हो रहे हैं  सांसद आदर्श ग्राम योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना के रूप में सामने आई, लेकिन धीरे-धीरे यह योजना …

भुला दी गई एक अच्छी योजना Read More »

राजनीतिः गांधी के सपनों का स्वराज

जिस ग्राम-स्वराज्य के रास्ते गांधी हिंद स्वराज्य का सपना साकार होते देखना चाहते थे उससे हमारे गांव कोसों दूर होते जा रहे हैं। विकास के नाम पर शहरीकरण, मशीनीकरण दैत्याकार रूप में फैलते जा रहे हैं, तो दूसरी तरफ गांवों की रौनक कूच करती जा रही है। गांवों से युवा-शक्ति का पलायन रोकना आज एक …

राजनीतिः गांधी के सपनों का स्वराज Read More »