environment

पत्तल, दौना तथा पंगत वाली संस्कृति, प्लास्टिक मुक्त भारत

रणविजय निषाद, पर्यावरणविद वर्त्तमान में वैश्विक स्तर पर अपने स्वास्थ्य को लेकर लोकमानस चिन्तित हैं। प्राचीन संस्कृति में आमजनमानस और बुद्धजीवी प्रकृतिप्रेमी हुआ करते थे। शादी-विवाह या अन्य कार्यक्रमों में हम इन्ही पेड़-पौधों के पत्तियों, लकड़ी, छाल आदि का प्रयोग करते थे। नीम की दातून का प्रयोग दाँतों की सफाई के लिए किया करते थे। …

पत्तल, दौना तथा पंगत वाली संस्कृति, प्लास्टिक मुक्त भारत Read More »

जल की महत्ता बताती रणविजय निषाद की पुस्तक जल संचेतना

मनीश अग्रहरि दुनिया भर में जल की समस्या है फलत: जल एक गंभीर विषय है। लेकिन सोशल मीडिया के इस दौर मेंं किताब कौन पढ़ना चाहता है बावजूद इसके कोरोना महामारी के दौर में लोगों में पाठकों में किताबों के प्रति आकर्षण देखा जा रहा है। आप भी यदि इस लॉक डाउन पीरियड में गंभीर …

जल की महत्ता बताती रणविजय निषाद की पुस्तक जल संचेतना Read More »

हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में जल्द शुरू होगा प्लास्टिक सड़कों का निर्माण

    प्लास्टिक का कचरा पर्यावरण के लिए एक बेहद ही घातक चुनौती बना हुआ है। इसके निपटारे के लिए वैज्ञानिक सालों से खोज कर रहे है। ऐसे में हरियाणा सरकार ने अब प्लास्टिक कचरे से सड़क निर्माण की तकनीक को अपनाने का फैसला किया है। पहले चरण में इस योजना के लिए तीन ग्रामीण …

हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में जल्द शुरू होगा प्लास्टिक सड़कों का निर्माण Read More »

एक शहर जिसने कचरे के खिलाफ मुहिम छेड़ दी

पंकज चर्तुवेदी,वरिष्ट पत्रकार केरल के कन्नूर ने ठान लिया, तो प्लास्टिक समेत हर किस्म के कूड़े से उसने मुक्ति पा ली। सरकार भी मानती है कि देश के कुल कूड़े का महज पांच प्रतिशत का ईमानदारी से निबटान हो पाता है। ‘कन्नन’ का अर्थ है श्रीकृष्ण और ‘उर’ यानी स्थान। केरल के दक्षिण-पूर्व में तटीय …

एक शहर जिसने कचरे के खिलाफ मुहिम छेड़ दी Read More »

उनकी प्राथमिकताओं में नहीं पर्यावरण

पूरी दुनिया पर्यावरण के खतरों को लेकर चिंतित है, लेकिन हमारे देश के राजनीतिक दलों को ये खतरे समझ में नहीं आते। अनिल प्रकाश जोशी,पर्यावरणविद पांच राज्यों में राजनीतिक दंगल जोरों पर है। सभी दलों ने घोषणापत्र जारी करने व तमाम तरह के वायदों की शुरुआत कर दी है। इन घोषणापत्रों को लुभावना बनाने की …

उनकी प्राथमिकताओं में नहीं पर्यावरण Read More »