river

कोरोना के साथ बाढ़ की आशंका में दिन रात गुजार रहे हैं बलिया वासी

आलोक रंजन बलिया: कोरोनाकाल में पहले से ही रोजी रोटी के लाले पड़े हुए हैं। संक्रमण का खतरा और आंकड़े निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। इस बीच बलिया वालों के लिए एक नई आफत सामने आ गयी है। आप यह भी कह सकते हैं कि कोरोना नया है, मानसून में वर्षा और नदियों के पानी …

कोरोना के साथ बाढ़ की आशंका में दिन रात गुजार रहे हैं बलिया वासी Read More »

गाद से लदी नदियों की सौगात है यह बाढ़

अमरनाथ झा चंपारण:बिहार के पश्चिम-उत्तर छोर पर पश्चिम चंपारण जिले के एक चॅंवर से निकलती है नदी सिकरहना, जो नेपाल की ओर से आने वाली अनेक छोटी-छोटी जलधाराओं का पानी समेटते हुए चंपारण, मुजफफरपुर, समस्तीपुर जिलों से होकर खगड़िया जिले मेें गंगा में समाहित हो जाती है। यह पूरी तरह मैदानी नदी है और गंडक …

गाद से लदी नदियों की सौगात है यह बाढ़ Read More »

गंगा की अविरलता से ही निर्मलता का सपना साकार होगा:नीतीश कुमार

कन्नौज से वाराणसी तक गंगा के गंदगी पर बात होती है, लेकिन गंगा की अविरलता पर ध्यान नहीं जाता। अब समय आ गया कि अविरल धारा पर बात की जाये: जयराम रमेश संतोष कुमार सिंह नयी दिल्ली:बिहार के एक बड़े हिस्से में गंगा बहती है लेकिन गंगा में गाद की समस्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही …

गंगा की अविरलता से ही निर्मलता का सपना साकार होगा:नीतीश कुमार Read More »

गंगा-यमुना ही नहीं सभी नदियों को जीवित ईकाईं मानते हुए कानून बने: राजेंद्र सिंह

संतोष कुमार सिंह नयी दिल्ली: नदियों के पुर्नजीवन के सवाल पर एक तरफ सरकार चिंतित दिख रही है वहीं दूसरी ओर पानी पर काम वाले जनसंगठन भी नदियों और देश में पानी की समस्या देखकर और उसके कारन उत्पन्न होने वाली समस्या को लेकर चिंतित है। यही कारण है कि एकतरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नर्मदा …

गंगा-यमुना ही नहीं सभी नदियों को जीवित ईकाईं मानते हुए कानून बने: राजेंद्र सिंह Read More »

बागमती तटबंध गैरजरूरी और नुकसानदेह भी

अमरनाथ बिहार की सबसे उपजाउ इलाके से प्रवाहित नदी है बागमती। इस नदी पर तटबंध बनाने का इतिहास जितना पुराना है, उतना ही विवादग्रस्त भी। ताजा विवाद दशकों से बंद पड़ी परियोजना को अचानक फिर से आरंभ करने से उत्पन्न हुआ है। इसे लेकर आयोजित जन सुनवाई में तटबंध निर्माण पर तत्काल रोक लगाने और …

बागमती तटबंध गैरजरूरी और नुकसानदेह भी Read More »

नदियों को सदानीरा बनाने में जुटा जौनपुर का जलयुवा..

मनीष अग्रहरि जौनपुर: जल ही जीवन है। मगर इस समय जल, जंगल और जमीन का अविवेकपूर्ण दोहन किया जा रहा है। ऐसे में गांव से निकला कोई युवा यदि जलसंरक्षण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर देने का संकल्प काफी सुखद है। पंचायत खबर आपको एक ऐसे ही जलयुवा से आपका परिचय करा रहा …

नदियों को सदानीरा बनाने में जुटा जौनपुर का जलयुवा.. Read More »