bihar government

मोतीपुर पंचायत को मिला प्रदेश का एकमात्र नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार

संतोष कुमार सिंह नयी दिल्ली: शुक्रवार यानी 24 अप्रैल को प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी पंचायती राज दिवस मनाया जाना है। इस दिन पर प्रत्येक वर्ष सामान्य परिस्थितियों में देश के उन पंचायतों को सम्मानित किया जिन्होनें लोकतंत्र की सबसे मौलिक इकाईं यानी पंचायत में बेहतर काम किया है। गांधी के ग्राम गणराज्य …

मोतीपुर पंचायत को मिला प्रदेश का एकमात्र नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार Read More »

आंखों में विकास का ख्वाब

मनोज कुमार, युवा पत्रकार मेरा गांव भी भारत के लाखों गांवों जैसा ही है। लगभग तीन सौ घरों की इस छोटी-सी बस्ती का नाम अवर्हिया है जो बिहार के कैमूर जिला अंतर्गत दुर्गावती प्रखंड में पड़ता हैं। इस गांव के बारे में एक पुरानी उक्ति है कि पांडे पूरा बांधे जूरा, दरौली पीसे पिसान, नार …

आंखों में विकास का ख्वाब Read More »

ड्रिप एवं स्प्रिंकलर सिंचाई से किसान होंगे मालामाल

  बिहार सरकार राज्य के किसानों को ड्रिप एवं स्प्रिंकलर सिंचाई प्रणाली की ओर आर्किषत करने के मकसद से 90 प्रतिशत तक अनुदान देने का प्रवाधान करने जा रही है। पहले ही भारत सरकार के प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत ‘मोर क्रॉप पर ड्राप- माइक्रोइरीगेशन’ कार्यक्रम के अन्तर्गत ड्रिप एवं स्प्रिंकलर सिंचाई प्रणाली को …

ड्रिप एवं स्प्रिंकलर सिंचाई से किसान होंगे मालामाल Read More »

ऑप्टीकल फाइबर इंटरनेट से जुड़ेंगी बिहार की सभी ग्राम पंचायतें

  इंटरनेट क्रांति तेजी से देश में अपना दायरा बढ़ा रही है, ऐसे में देश के ग्रामीण इलाकों को इससे जोड़ने के लिए निरंतर प्रयास जारी हैं। बिहार सरकार ने भी एक ऐसी ही पहल को शुरू किया है, जिसके माध्यम से बिहार व केन्द्र सरकार राज्य की सभी ग्राम पंचायतों में ऑप्टीकल फाइबर बिछा …

ऑप्टीकल फाइबर इंटरनेट से जुड़ेंगी बिहार की सभी ग्राम पंचायतें Read More »

हरित क्रांति में बिहार की अहम भूमिका,राज्य सरकार दे पूरा सहयोग: राधामोहन सिंह

•    बिहार को गेंहू, चावल और तिलहन की उत्पादकता बढ़ाने के लिए उन्नत कृषि तकनीक, उच्च पैदावार की वैरायटी और बड़े पैमाने पर बीज प्रतिस्थापन की जरूरत है। •     कृषि में दूसरी हरित क्रांति का आगाज पूर्वी राज्यों से होना है और उसमें बिहार की अहम भूमिका होगी। अमरनाथ झा पटना : बिहार की …

हरित क्रांति में बिहार की अहम भूमिका,राज्य सरकार दे पूरा सहयोग: राधामोहन सिंह Read More »

बिहार में सिमटती जा रही है साल दर साल दलहन की खेती

कमलेश कुमार सिंह पटना: सूबे में गरीबों का निवाला कही जाने वाली दाल-रोटी की कहावत भी गलत साबित होने लगी है। दरअसल, सूबे में पिछले 25 साल में दलहन की खेती में तेजी से गिरावट आई है।  फलस्वरुप, उत्पादन घटने से इसकी कीमत में आया हैै।   80 के दशक में बिहार में 9 लाख हेक्टेयर …

बिहार में सिमटती जा रही है साल दर साल दलहन की खेती Read More »