Medha patkar

कर्जमुक्ति और ड्योढ़े दाम की मांग लेकर देश भर से हजारों किसान पहुंचे जंतर-मंतर

संतोष कुमार सिंह दिल्ली के जंतर मंतर पहुँची मंदसौर से चली 13-दिवसीय किसान मुक्ति यात्रा। कल भी जारी रहेगा धरना। सत्तापक्ष और विपक्ष के भी कई सांसद पहुँचे जंतर मंतर, किसान मुक्ति संसद को दिया समर्थन। नयी दिल्ली: संसद के मानसून सत्र के दूसरे दिन एक ओर जहां बसपा नेता मायावती ने राज्यसभा से इस्तिफा …

कर्जमुक्ति और ड्योढ़े दाम की मांग लेकर देश भर से हजारों किसान पहुंचे जंतर-मंतर Read More »

राजनीतिक दल और जनसंगठन एक मंच पर..केंद्र के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी

पंचायत खबर टोली पटना: इस वक्‍त मुल्‍क में एक बड़े जन आंदोलन की जमीन तैयार हो रही है। जनता के हक की बात करने वाली राजनीतिक पार्टियों और जन आंदोलनों के बीच बेहतर संवाद के बिना बदलाव मुमकिन नहीं है। इसके लिए चुनाव में सुधार करना होगा। हर स्‍तर पर पारदर्शिता और जवाबदेही बढ़ानी होगी। अभिव्‍यक्ति …

राजनीतिक दल और जनसंगठन एक मंच पर..केंद्र के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी Read More »

नदी बेचने की चाल है नदी जोड़ परियोजना:मेधा पाटकर

अमरनाथ पटना: नदी जोड परियोजना को नदियों को बेचने की चाल ठहराते हुए मेधा पाटकर ने कहा कि बिहार को इस मामले में कठोर रुख अख्तियार करना चाहिए। उसे नदी जोडने की दिशा में नहीं जाकर वैकल्पिक जल नीति बनाने के बारे में सोचना चाहिए। बिहार बाढ़ और सूखा दोनों से प्रभावित होता है। लेकिन …

नदी बेचने की चाल है नदी जोड़ परियोजना:मेधा पाटकर Read More »

चंपारण में गांधीवाद की बात करना भी गुनाह

कुमार कृष्णन बिहार में जिस चंपारण की धरती पर महात्मा गांधी ने किसानों को जुल्मी फिरंगियों के अत्याचार से मुक्त् िदिलाने के लिए सफल सत्याग्रह कर देश और दुनिया  को  राह दिखायी थी। आज उसी धरती पर उनके सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर गांधीवाद की बात करना गुनाह हो गया है। इसकी नजीर  …

चंपारण में गांधीवाद की बात करना भी गुनाह Read More »

औद्योगिक कॉरिडोर के बहाने जमीन पर कॉरपोरेट का कब्जा:मेधा पाटकर

कॉरीडोरों की सरकारी मुहिम को विराम दने के लिए और इसके लिए लोगों को एकजुट करने के लिए जनआंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय एवं अन्य जनाधिकार संगठन मिलकर ” कॉरीडोर विरोधी संघर्ष अभियान” के बैनर तले एकजुट होकर लंबी लड़ाई की तैयारी में हैं। दो दिवसिय बैठक में फैसला लिया गया कि सरकार की कॉरीडोर के …

औद्योगिक कॉरिडोर के बहाने जमीन पर कॉरपोरेट का कब्जा:मेधा पाटकर Read More »

लाख दुखों की एक दवा..सबसे उपर ग्राम सभा: रघुवंश प्रसाद सिंह

हम मेहनत कश जगवालों से.. अपना हिस्सा मांगेगे, इक खेत नहीं..इक देश नहीं हम अपना हिस्सा मांगेगे..फैज हम फैज की ये पंक्तियां जमीन हमारे आपकी, नहीं किसी के बाप की..जैसे नारों हो या गांव छोड़ब नहीं, खेत छोड़ब नाहीं, माई माटी छोड़ब नहीं, लड़ाई छोड़ब नहीं…..लड़ाई छोड़ब नहीं   जैसे संकल्प के साथ जंतर—मंतर पर …

लाख दुखों की एक दवा..सबसे उपर ग्राम सभा: रघुवंश प्रसाद सिंह Read More »