madhya pradesh

मध्यप्रदेश: खाटला और तड़वी बैठक से मिली आदिवासी और जनजातीय जिलों में टीकाकरण को गति

विक्रम मजूमदार भोपाल: मध्यप्रदेश की एक बड़ी आबादी में आदिवासी और जनजातीय समाज की बहुलता है। जिनकी आजीविका जंगलों और जड़ी बूटियों पर आश्रित है। परंपरागत लोकाचार से जुड़े समुदाय के लोगों को वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित करना खासा चुनौतीपूर्ण रहा। लेकिन इन ईलाकों में जिला प्रशासन, राज्य और जिला स्तरीय स्वास्थ्य टीम ​के सा​थ …

मध्यप्रदेश: खाटला और तड़वी बैठक से मिली आदिवासी और जनजातीय जिलों में टीकाकरण को गति Read More »

देश का पहला गाँव, जिसके हर घर में सोलर इंडक्शन पर पकता है खाना

मंगरूआ मध्यप्रदेश के बैतूल जिले का एक छोटा-सा अनुसूचित जनजाति (शेड्यूल ट्राइब) बाहुल्य गाँव है- बाचा। आजकल यह छोटा-सा गाँव अपने बड़े नवाचारों के कारण चर्चा में बना हुआ है। वर्ष 2016-17 से बाचा ने बदलाव की करवट लेनी शुरू की। आज बाचा न केवल मध्यप्रदेश बल्कि भारत के सभी गाँवों के लिए प्रेरणा स्रोत …

देश का पहला गाँव, जिसके हर घर में सोलर इंडक्शन पर पकता है खाना Read More »

आत्मनिर्भर भारत के प्रधानमंत्री के संकल्प से गांव की आत्मनिर्भरता की राह तलाशता ‘तीसरी सरकार अभियान’

मंगरूआ दिल्ली: ​कोरोना महामारी के दौरान गांव की आत्मनिर्भरता का सवाल बहस के केंद्र में है। कई स्तर पर इस विषय पर संवाद की प्रक्रिया चल रही है। इस बहस को नया आयाम तब मिला जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से कहा कि लोकल सिर्फ जरूरत नहीं, हम सभी की जिम्मेदारी है। …

आत्मनिर्भर भारत के प्रधानमंत्री के संकल्प से गांव की आत्मनिर्भरता की राह तलाशता ‘तीसरी सरकार अभियान’ Read More »

किसानों का वाजिब गुस्सा

राजकिशोर सरकारें एक बार किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने का निर्णय कर लें तो कुछ दिनों के लिए हाहाकार जरूर मचेगा, लेकिन इससे खेती और उद्योग में संतुलन आ सकता है किसान का स्वभाव धरती की तरह होता है। धरती बहुत कुछ सहती है, फिर भी देती जाती है लेकिन जब वह …

किसानों का वाजिब गुस्सा Read More »