थोड़ा सा रखें ध्यान..तो चेहरा पर दिखेगा नूर

शैल
ब्यूटी विशेषज्ञ

पंचायत खबर वेबसाईट पर एक साप्ताहिक श्रृंखला शुरू की गई है जिसमें आपको हमारे विशेषज्ञ अपने शरीर, त्वचा के देखभाल से संबंधित जरूरी जानकारी देंगे। इस श्रृंखला की तीसरी कड़ी में पेश है ब्यूटी विशेषज्ञ शैल का ये आलेख…

नयी दिल्ली: पिछले आलेखों में त्वचा के प्रकार, उनकी पहचान की चर्चा की गई थी। आज हम इसके रखरखाव पर चर्चा करते हैं। आपको बताने का प्रयास है कि कैसे आप अपनी त्वचा की देखभाल सही तरीके से करें।
कैसे करें शुष्क त्वचा की देखभाल
वैसे तो शुष्क त्वचा की देखभाल बहुत ही आसान है,आपको बस इतना ध्यान रखना होता है कि आपकी त्वचा में जब भी खिंचाव महसूस हो तो आपको समझ जाना चाहिए कि त्वचा एवं आपके शरीर में पानी की कमी हो रही है, नमी खत्म हो रही है। यहां यह समझना भी जरूरी है कि रात का समय हमारे त्वचा के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि कामकाजी लोगों विशेष रूप से महिलाओं को रात को ही फुर्सत का समय मिल पाता है। यह समय उनके लिए खास होता है जब वो अपने साज सज्जअपने अपने आप को रिपेयर करने के लिए आप सभी को पहले ही बताया गया है कि आप दिखावा पढ़ना जाए सही एवं हर्बल ही प्रोडक्ट को अप्लाई करें।


बनाएं घर पर ही मॉइश्चराइजर
वैसे तो आप कई प्रकार से मॉइश्चराइजर घर में ही बना सकते हैं, जिसकी जानकारी आगे चलकर समय के साथ आपको दी जाती रहेगी। लेकिन शुरूआत में आपके साथ इन दो आसानी से तैयार होने वाले तरीकों की चर्चा लाजिमी है।
पहला है…नारियल तेल, गुलाब का जेल, एलोवेरा जेल, बादाम या फिर अलसी का तेल या फिर दोनों के मिश्रण से तैयार किये गये मॉइश्चराइजर की। परंतु इसका ध्यान रखें कि अलसी के तेल की मात्रा कम हो इसे एक स्प्रे वाली बोतल में भरकर अच्छे से मिक्स कर लें।
दूसरा तरीका बिल्कुल देसी है अर्थात देसी घी का इस्तेमाल करें। घी गाय या भैंस का भी हो सकता है। परंतु ध्यान रखें कि वह डेयरी की दूध का या थैली की दूध की ना बनी हो आप इस घी को घर पर भी निकाल सकते हैं उसे इस्तेमाल करने के लिए एक बोतल में रख ले।
रात को सोने से पहले चेहरे को साफ कर ले फिर इन दोनों में से कोई भी मॉइश्चराइजर अच्छे तरीके से फेस पर अपने हाथों से लगा सकते हैं। ऐसा करने से आपकी त्वचा संबंधी समस्या 3 से 7 दिनों में खत्म हो जाएगी। यदि दिन में मेकअप भी करना पड़े तो कोई बात नहीं पहले वाला नुकसा अपना एक्सप्रेस से चेहरे पर अप्लाई करें एवं उसके पश्चात ही किसी मेकअप का इस्तेमाल करें। यह भी ध्यान रखें कि नारियल तेल एवं गुलाब जल बिल्कुल यह हर्बल होना चाहिए तभी इसका इसका इस्तेमाल ज्यादा कारगर साबित हो सकता है।
ऑयली त्वचा की देखभाल
ऐसी त्वचा वाले लोगों के उपचार में जो सबसे जरूरी चीज ध्यान रखनी होती है​ कि आपकी त्वचा से हमें ऑयल को खींचकर बाहर निकालना है। इसके लिए आपको एक अच्छा सा फेस क्लीनर चाहिए।


घर वस्तुओं के इस्तेमाल से बना फेस क्लीनर
इसके लिए आपको कच्चा दूध और चीनी की आवश्यकता होगी। आप अपनी हथेली पर थोड़ा सा कच्चा दूध और थोड़ा सा चीनी लें। उसे फेस पर धीरे-धीरे मसाज करें, अर्थात फेस को साफ करें। ध्यान रहे इसे सिर्फ लगभग केवल 2 मिनट रगड़ना नहीं है बल्कि चेहरे को अच्छे से मसाज करना है। इसके पश्चात फिर से अपने चेहरे को पानी से धो लें। धोने के पश्चात अपने चेहरे पर टोनर अप्लाई करें।
ऐसे बनायें टोनर
सबसे पहले खीरा ले और कद्दूकस कर लें। उसका पानी निकाल कर उसे एक बोतल में डालकर छान लें। अब उसे फेस पर स्प्रे करें
दूसरी विधि गुलाब जल में विटामिन ई के कैप्सूल मिलाएं उसे अच्छी तरह से मिक्स कर लें और अब स्प्रेवाले बोतल में उसे रखें और पूरी त्वचा पर लगाएं। आप इस विधि को पूरे दिन में कम से कम 2 बार जरूर करें। एक बार सुबह और एक बार रात को आपकी काफी हद तक की समस्याएं खत्म हो जाएंगीं
सेंसेटिव स्किन की कैसे करें देखभाल
आपकी त्वचा ऑयली एवं सेंसेटिव भी है इसलिए आपकी त्वचा को फेस क्लीनर,टोनर और एक अच्छा सा सन प्रोटेक्शन भी चाहिए।
इसलिए आप कच्चे दूध, चीनी के इस्तेमाल से ही अपने चेहरे का सौंदर्य बढ़ा सकते हैं। चेहरे को 24 घंटे में दो बार साफ करें, दिन में एवं रात में। अब आपको बाहर भी निकलना है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी तरह टमाटर में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारी त्वचा को सूर्य की किरणों से बचा सकते हैं। आप टमाटर को कद्दूकस कर लें उस का रस निकालें सबसे पहले चेहरे को साफ करें टमाटर का रस चेहरे पर लगाकर 15 मिनट छोड़ दें। उसके बाद चेहरे को धो कर और सुखा लें और उसके बाद घर में तैयार किये गये टोनर का इस्तेमाल करें, जिसके निर्माण की विधि ऊपर बताई गयी है।


नॉर्मल त्वचा की देखभाल
आपकी त्वचा का रखरखाव मौसम के उतार—चढ़ाव पर निर्भर रहता है। जब सर्दी आती है तो ड्राई और गर्मी आती है तो ऑइली तो नहीं होती पर पसीना आता है। इसलिए आप मुल्तानी मिट्टी से अपना चेहरा धो सकते हैं। सर्दी में हम उस मॉइश्चराइजर एवं गर्मी में टोनर का इस्तेमाल कम से कम दो बार कर सकते हैं।
कई बार ऐसा होता है कि लोग समयाभाव के कारण घर में मॉइश्चराइजर नहीं बना पाते हैं। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि उनको घरेलू इस्तेमाल में आने वाली वस्तुओं के बजाय बाजार से खरीदे गये उत्पादों पर ज्यादा भरोसा होता है। ऐसे लोग जो घर पर नहीं बना पा रहे हैं उनके लिए बाहर से उत्पादों को खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है इस पर विस्तार से चर्चा की जायेगी। पाठकों को अपनी प्रतिक्रियायें जरूर सामने रखनी चाहिए कि उन्हें हमारी ये प्रस्तुती कैसे लग रही है। तब तक के लिए नमस्कार। आप सभी प्रसन्न रहें, स्वस्थ रहें एवं चमकते रहें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *