उत्तर प्रदेश के प्रधान ने देश के प्रधान के कहे अनुरूप ग्राम प्रधान का ‘मेरा गांव कोरोना मुक्त’अभियान में मांगा साथ

संतोष कुमार सिंह
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश को, मेरा गांव कोरोना मुक्त अभियान के लिए न सिर्फ खुद गांव—गांव घूमकर व्यवस्था को चाक चौबंद करने में लगे हुए हैं बल्कि वे इस बात को बखूबी समझते हैं बिना पंचायत प्रतिनिधियों को साथ लिए गांव को कोरोना मुक्त बनाने की लड़ाई मुश्किल साबित होगी। यही कारण है कि नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के शपथ ग्रहण के बाद वे पहली बार पंचायत प्रतिनिधियों से रूबरू हुए। इस दौरान प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी पंचायत प्रतिनिधियों से बातचीत की। दोनों का मकसद और लक्ष्य एक ही रहा। प्रधानमंत्री के कहे अनुरूप गांव को कोरोना के संक्रमण से बचाना और ‘मेरा गांव कोरोना मुक्त’ अभियान को गति प्रदान करना।


प्रदेश के प्रधान का ग्राम प्रधान को दिया गया मंत्र
जब उत्तर प्रदेश के प्रधान योगी आदित्यनाथ गांव के प्रधान से रूबरू हुए तो उन्होंने कहा कि मैंने पिछले दिनों कई गांवों का दौरा किया, लेकिन कई जगहों पर अभी भी मास्क का उपयोग नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि, प्रधान की जिम्मदारी है कि, लोगों को जागरूक बनाये और भीड़-भाड़ न होने दे। उन्होंने कहा कि, बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को जिनमें बुखार, खांसी हो उन्हें मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए। योगी ने यह भी कहा कि, स्वास्थ्य विभाग की टीम को 24 घंटे के भीतर बुलाकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जाए।

  ………मेरा गांव कोरोना मुक्त
कोरोना के खिलाफ प्रदेश में चल रहे लड़ाई लेखा जोखा
प्रदेश के प्रधान के ग्राम प्रधान के साथ आयोजित डिजिटली संवाद कार्यक्रम में शामिल हुए 58,176 ग्राम प्रधानों को योगी आदित्यनाथ ने यह भरोसा दिलाया कि “पंचायती राज प्रणाली हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है। मुझे खुशी है कि कई प्रधानों ने शपथ ग्रहण की औपचारिकताओं की प्रतीक्षा किए बिना परिणाम के तुरंत बाद निगरानी समितियों के साथ मिलकर काम करना शुरू कर दिया है।”
विशेषज्ञों की भविष्यवाणी से बेहतर परिणाम
मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेषज्ञों की भविष्यवाणी के विपरीत कि मई में उत्तर प्रदेश में एक दिन में एक लाख कोरोना वायरस के मामले सामने आएंगे, पिछले 24 घंटों में केवल 2,402 नए संक्रमण दर्ज किए गए।

“हमारी रिकवरी दर बहुत अच्छी है और सकारात्मकता दर एक प्रतिशत से भी कम हो गई है। ग्राम प्रधान के रूप में, आप सभी अपने गांवों की निगरानी समितियों के अध्यक्ष हैं। इन समितियों ने अब तक बहुत अच्छा काम किया है, उन्होंने कहा कि गांव के बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति पर उन्हें नजर रखनी चाहिए।                                                                                         …..मेरा गांव कोरोना मुक्त
कोरोना को लेकर बरतें सावधानी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानों से बातचीत के दौरान कहा कि, मैंने पिछले दिनों कई गांवों का दौरा किया, लेकिन कई जगहों पर अभी भी मास्क का उपयोग नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि, प्रधान की जिम्मदारी है कि, लोगों को जागरूक बनाये और भीड़-भाड़ न होने दे। उन्होंने कहा कि, बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को जिनमें बुखार, खांसी हो उन्हें मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि, स्वास्थ्य विभाग की टीम को 24 घंटे के भीतर बुलाकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जाए।

बभनी ब्लाक के मुनगाडीह ग्राम पंचायत के नवनिर्वाचित आदिवासी महिला ग्राम प्रधान गुड़िया देवी

सीएम योगी ने दिया मंत्र

सीएम योगी ने कहा कि, प्रधानों की ये जिम्मेदारी है कि, गांव में कोई भी व्यक्ति बाहर से आता है, उस पर निगाह रखी जाए। उन्होंने कहा कि, यूपी में कोरोना काबू में आया है। बातचीत के दौरान उन्होंने मंत्र दिया कि, प्रधानों का लक्ष्य हो कि, मेरा गांव कोरोना मुक्त गांव। उन्होंने कहा कि, हमने एक सर्वे कराया था, जिसमें 32 फीसदी गांवों में संक्रमण पाया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि, 68 फीसदी गांव ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी जागरुकता के चलते संक्रमण को दूर किया।                                                                         …..मेरा गांव कोरोना मुक्त       
जीवन भी बचाना है और जीविका भी
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ठीक कहा है कि कोरोना बहुरूपिया है। वो नित प्रति अपना रंग बदलता है। हमें इन चुनोतियों से लड़ते हुए जीवन भी बचाना है और जीविका भी।“हमारी रिकवरी दर बहुत अच्छी है और सकारात्मकता दर एक प्रतिशत से भी कम हो गई है। ग्राम प्रधान के रूप में, आप सभी अपने गांवों की निगरानी समितियों के अध्यक्ष हैं। इन समितियों ने अब तक बहुत अच्छा काम किया है, उन्होंने कहा कि गांव के बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति पर उन्हें नजर रखनी चाहिए। आदित्यनाथ ने कहा, “यह खुशी की बात है कि हमारे सर्वेक्षण में 68 फीसदी गांव कोरोना संक्रमण से अप्रभावित पाए गए। इसे बनाए रखने के लिए हमें पहरेदारी कम नहीं करनी चाहिए।”उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान यह सुनिश्चित करें कि एक भी पात्र व्यक्ति नि:शुल्क वितरित किए जाने वाले खाद्यान्न से वंचित न रहे।

राजापुर के प्रधान अश्विनी राय

बाहर से आने वाले शख्स पर रखें निगाह

मुख्यमंत्री ने आने वाली बरसात को लेकर भी सावधानी बरतने को कहा। उन्होंने कहा कि, इस दौरान डेंगी, मलेरिया, चिकुनगुनिया आदि बीमारियां आती हैं। ऐसे में गांव को स्वच्छ रखें। उन्होंने कहा कि, इसे रोकने के लिये ग्राम पंचायत की भूमिका अहम होगी। मुख्यमंत्री ने साफ सफाई पर जोर देते हुये कहा कि, गांव में सप्ताह में दो से तीन बार स्वच्छता का अभियान व्यापक रूप से चलाएं। सीएम योगी ने नये ग्राम प्रधानों की सराहना करते हुये कहा कि, उन्होंने अच्छा काम किया. इसके अलावा निगरानी समितियों की भी तारीफ की।

पीने का पानी हो साफ

स्वच्छ पेय जल के बारे में बताते हुये उन्होंने कहा कि, साफ पीने का पानी उपलब्ध करवाना हमारी प्राथमिकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि, अगर गांव में साफ पीने का पानी नहीं है, लोग नल का पानी पीते हैं, तो उस पानी को उबाल कर छान कर पीये।             …..मेरा गांव कोरोना मुक्त

योगी एलान…पंचायत चुनाव ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से मारे गये परिवारों को मिलेगा मुआवजा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *