रक्षा बंधन से सुपोषण की ओर..बापियों ने कुपोषित बच्चों को बांधा पोषण सूत्र…

पंचायत खबर टोली
दंतेवाड़ा: आज देश भर में रक्षा बंधन का त्योहार बड़े ही धूम धाम से मनाया गया। बहनों ने भाईयों की कलाई पर राखी बांधी और रक्षा का बचन लिया। लेकिन इन सब से अलग दंतेवाड़ा जिला में इस बार रक्षा बंधन के त्योहार का नया कलेवर देखने को मिला।
जिला कलेक्टर दीपक सोनी की पहल से यहां ग्राम पंचायतों में स्वैच्छिक रूप से कार्य कर रही बापियों ने कुपोषित बच्चों को बिहान दीदियों द्वारा निर्मित छिंद राखियां पोषण सूत्र बांधा। पोषण सूत्र बांध कर बापियों ने उन कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने का शपथ भी लिया।

कलेक्टर दीपक सोनी ने आंगनबाड़ी केंद्र चैतुपारा कारली एवं चितालंका पटेलपारा में उपस्थित रहकर पालकों से चर्चा की उन्हें सुपोषण का संकल्प दिलवाया, बच्चों को पोषण टोकरी बांटी साथ ही बापियों को उनके कार्य के लिए सम्मानित भी किया। कलेक्टर सोनी ने बताया कि सुपोषण सूत्र के माध्यम से बापी एवं बिहान की दीदियां कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त कर पाएंगी।सुपोषण (कुपोषण से सुपोषण की ओर) के प्रति समाज में जागरूकता आएगी। समाज के लोगों में नवाचार की भावनाएं उत्पन्न होंगी। बिहान समूह द्वारा निर्मित राखियों का प्रचार प्रसार एवं उपयोग होगा। समाज को नई दिशा मिलेगी साथ ही पोषण एवं स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर व्यवहार परिवर्तन होगा।
जिला महिला बाल विकास अधिकारी बृजेन्द्र सिंह ठाकुर ने बताया कि बापी ना उवाट जिले में कुपोषण एवं एनीमिया को कम करने स्वास्थ्य एवं पोषण आदि विषयों में जानकारी देने समाज में व्यवहार परिवर्तन के उद्देश्य से यूनिसेफ द्वारा जिला प्रशासन तथा महिला एवं बाल विकास के सहयोग से 10 सितंबर से संचालित है।इस कार्यक्रम में जिले के प्रत्येक ग्राम से बुजुर्ग महिला का चयन किया गया है जिनकी बातें विचारों को ग्रामवासी अमल में लाते हैं। बापियों के माध्यम से समाज में स्वास्थ्य, पोषण, स्वच्छता के प्रति परिवार समाज एवं ग्राम वासियों में व्यवहार परिवर्तन कराया जा रहा है। 143 ग्राम पंचायतों की सभी ग्राम पंचायतों में 191 बापियां स्वैच्छिक रूप से कार्यरत है। इस तरह के पहल से निश्चित रूप से लोगों में बदलाव आयेगा और बच्चों का पोषण स्तर बेहतर होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *