अब केवल 15 दिनों में पायें किसान क्रेडिट कार्ड

केंद्र सरकार लंबे समय से किसानों की वित्तिय मदद के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना को लागू किये हुए है, इस योजना का लाभ किसानों को भी मिल रहा है, इस बात में कोई संदेह नहीं है। इस योजना के तहत खेती के काम के लिए सस्ती ब्‍याज दर पर कर्ज मुहैया कराया जाता है। लेकिन अगर आप किसान है और अब तक इस योजना का लाभ नहीं उठा सके है तो आपके पास किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने का एक सुनहरा अवसर है। हाल ही में मोदी सरकार ने केसीसी सेचुरेशन ड्राइव की ​अवधि 31 मार्च 2021 बढ़ा दिया है। बाता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले एक साल में एक विशेष मुहिम चलाकर 1.82 करोड़ से अधिक केसीसी जारी किए गए और 1.73 लाख करोड़ रुपये की क्रेडिट स्वीकृत दी है।

इस योजना के तहत कोई भी किसान नजदीकी बैंक शाखा पहुंचकर बहुत आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है। सरकार ने किसानों की परेशानी को समझते हुए केसीसी आवेदन के लिए बहुत ही सरल फॉर्म जारी किया है। इसे भरने के बाद उन्‍हें महज 15 दिन में अपना किसान क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा। इस क्रेडिट कार्ड से लिए गए कर्ज पर 3 लाख रुपये तक का सेवा शुल्क माफ कर दिया गया है। बता दें कि केसीसी के तहत 3 लाख रुपये तक का कर्ज सिर्फ 7 फीसदी ब्याज पर मिलता है। यही नहीं, समय पर पैसा लौटाने वाले किसानों को 3 फीसदी की छूट भी मिलती है। दूसरे शब्‍दों में कहें तो समय पर कर्ज लौटाने वाले किसानों को महज 4 फीसदी ब्याज दर पर ही रकम मिल रही है।

कैसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड
किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए पीएम किसान योजना की ऑफिशियल साइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
उसके बाद किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म डाउनलोड करें।
इस फॉर्म को आपको अपनी कृषि योग्य जमीन के दस्तावेज, फसल की डिटेल के साथ भरना होगा।
यह जानकारी देनी होगी कि आपने किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है।
अगर ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते हैं तो अपनी नजदीकी बैंक शाखा जाकर सभी औपचारिकताएं पूरी करें।

आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज
आईडी प्रूफ के तौर पर वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक देना होता है।
एड्रेस प्रूफ के लिए आईडी प्रूफ के लिए जमा किया गया कोई भी दस्‍तावेज मान्‍य होगा।
केसीसी किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) से हासिल किया जा सकता है।
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और आईडीबीआई बैंक से भी केसीसी लिया जा सकता है।
नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया रुपे केसीसी जारी करता है।

अब सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड की लोकप्रियता को देखते हुए इस योजना का विस्तार पशुपालन और मछलीपालन करने वाले भी किसानों तक भी कर दिया है। इसके तहत यह किसान 2 लाख रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं। खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, भले ही वो किसी दूसरे की जमीन पर खेती करता हो, इसका लाभ ले सकता है। इसके लिए न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम 75 साल होनी चाहिए। किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी लगेगा, जिसकी उम्र 60 से कम हो। किसान के फॉर्म भरने के बाद बैंक कर्मचारी देखेगा कि आप इसके योग्य हैं या नहीं।

केसीसी से संबंधित निराकरण
आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक, बैंक को आवेदन के 15 दिन में केसीसी जारी करना होता है। अगर तय अवधि में कार्ड जारी नहीं होता है तो किसान संबंधित क्षेत्र के बैंकिंग लोकपाल से शिकायत कर सकते हैं। इसके अलावा आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट https://cms.rbi.org.in/ पर भी अपनी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। किसान क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन नंबर 0120-6025109 / 155261 और ग्राहक ईमेल pmkisan-ict@gov.in के जरिये हेल्प डेस्क से भी संपर्क कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *