राजभाषा हिंदी में मौलिक पुस्तक लेखन हेतु राजभाषा गौरव पुरस्कार योजना-वर्ष 2020 के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित

राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय द्वारा हिंदी में मौलिक पुस्तक लेखन के लिए चलाई जा रही निम्नलिखित पुरस्कार योजनाओं के लिए 01.01.2020 से 31.12.2020 के दौरान प्रकाशित पुस्तकें आमंत्रित हैं। इस योजना में दो वर्गों में पुरस्‍कार दिए जाते हैं।

  1. केन्द्र सरकार के कार्मिकों (सेवानिवृत्त सहित) के लिए हिंदी में मौलिक पुस्तक लेखन हेतु राजभाषा गौरव पुरस्कार जिनकी पात्रता/शर्ते निम्‍न हैं:

(I) पुस्तक के लेखक केन्द्र सरकार के मंत्रालयों/विभागों/उनके सम्बद्ध/अधीनस्थ कार्यालयों, केन्द्र सरकार के उपक्रमों, राष्ट्रीयकृत बैंकों/वित्तीय संस्थानों तथा केन्द्र सरकार के स्वामित्व में या नियंत्रणाधीन स्वायत संस्थाओं/केंद्रीय विश्वविद्यालयों/प्रशिक्षण संस्थानों के सेवारत/सेवानिवृत्त अधिकारी/कर्मचारी हों। (II) सेवारत लेखक अपनी प्रविष्टि अपने विभाग के अध्यक्ष द्वारा सत्यापन एवं संस्तुति तथा सेवानिवृत्त लेखक अपनी प्रविष्टि पीपीओ की प्रति के साथ इस विभाग को सीधे भेजें।

  1. भारत के नागरिकों के लिए हिंदी में ज्ञान-विज्ञान मौलिक पुस्तक लेखन हेतु राजभाषा गौरव पुरस्कार

पुस्तक इंजीनियरी, इलेक्ट्रिनिक्स, कंप्यूटर विज्ञान, भौतिकी, जैव विज्ञान, ऊर्जा, अंतरिक्ष विज्ञान, आयुर्विज्ञान, रसायन विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, प्रबंधन, मनोविज्ञान आदि तथा समसामयिक विषय जैसे उदारीकरण, भूमंडलीकरण, उपभोक्तावाद, मानवाधिकार, प्रदूषण नियंत्रण आदि।आधुनिक तकनीकी/विज्ञान की किसी विधा अथवा समसामयिक विषय पर लिखी हो सकती है।

भारत का कोई भी नागरिक इस पुरस्कार योजना में भाग ले सकता है। उपर्युक्त योजनाओं के संबंध में प्रपत्र तथा पूरा विवरण विभाग की वेबसाइट http://rajbhasha.gov.in पर उपलब्ध है। पुस्तकें भेजने की अंतिम तिथि 01.05.2021 है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *