कोरोना के प्रकोप बीच (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के मतदान का पहला चरण संपन्न

आलोक रंजन
लखनऊ: एक तरफ उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कोरोना के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। दूसरी तरफ (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के मतदान के पहले चरण के आंकड़े। कोरोना के फैलाव को लेकर पंचायत चुनाव बूथों पर सावधानियां जरूर बरती गई हैं लेकिन साथ ही साथ प्रत्याशी किसी भी कीमत पर चुनाव का जंग भी जीत लेना चाहते हैं। इस बीच जगह—जगह से छिटपुट वारदात की खबरें भी आ रही हैं और ऐसा लगता है लो​ग कोराना के डर को पीछे छोड़ कर उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव जीत लेना चाहते हैं, जीत का सेहरा अपने नाम कर लेना चाहते हैं भले हीं कोरोना के दौरान होने वाले पंचायत चुनाव में जान की बाजी क्यों न लग जाए,जान जोखिम में पड़ जाए।
(Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के पहले चरण की वोटिंग हो रही है, जिसके तहत जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के लिए चुनाव हो रहे हैं। इस लिहाज से देखें तो उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है। इसलिए प्रदेश के सभी राजनीतिक दल इस सेमीफाइनल को फाइनल मान के लड़ रहे हैं और हर कीमत पर जीत हासिल हो इसलिए हर तरह का दावं—पेंच अपनाया जा रहा है।

राज्य निर्वाचन आयोग ने इस बाबत सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए । अलग-अलग श्रेणी के लगभग 2.21 लाख पदों के लिए सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान आयोजित होना है। पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य  के 779, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19,313 ग्राम प्रधान के 14,789 और ग्राम पंचायत सदस्य के 1.86 लाख पदों के लिए प्रदेश के मतदाताओं ने मतदान किया।


कोरोना संक्रमण को लेकर बूथों पर पुख्ता प्रबंध
जैसा कि विदित है कोरोना का फैलाव अपने चरम पर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर कई अधिकारी संक्रमण के चपेट में हैं। (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पंचायत चुनाव करा पाना चुनाव आयोग के लिए चुनौतियों से भरा है। राज्य निर्वाचन आयुक्त (UP State Election Commissioner) मनोज कुमार ने संबंधित 18 जिलों के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। हर बूथ पर सेनेटाइजर, मॉस्क आदि की पर्याप्त व्यवस्था हो। इतना ही नहीं पुलिस कर्मियों के लिए भी निष्पक्ष और निर्विघ्ण रूप से चुनाव कराना चुनौती भरा है और साथ ही कोरानो से बचाव भी।
बावजूद इसके जगह—जगह से (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के पहले चरण के दौरान बवाल व हिंसा की खबरें सामने आईं। कहीं फर्जी वोटिंग को लेकर दो पक्षों के समर्थक के बीच टकराव की वारदात सामने आई तो कहीं बूथ के अंदर से मतपेटिका लूट ले जाने तो कहीं से बैलेट पेपर फाड़े जाने की वारदात की घटना हुई। इक्का दुक्का जगह से सुरक्षा बलों के साथ टकराव की घटना भी सामने आई।

उल्लेखनीय है कि (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को 18 जिलों में मतदान हुआ। जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत वार्ड सदस्य के दो लाख 21 हजार से अधिक सीटों के लिए तीन लाख 33 हजार से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में हैं। प्रदेश में चार चरणों में होने वाले चुनाव के पहले चरण में अयोध्या, आगरा, कानपुर, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, प्रयागराज, बरेली, भदोही, महोबा, रामपुर, रायबरेली, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, सहारनपुर, हरदोई और हाथरस जिलों में मतदान जारी है । पहले चरण में जिला पंचायत सदस्य के 779 पदों के लिए 11442 प्रत्याशी क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19313 पदों के लिए 81747 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान के 14789 पदों के लिए 114142 प्रत्याशी तथा ग्राम पंचायत वार्ड सदस्यों के 186583 पदों के लिए 126613 उम्मीदवार मैदान में हैं।
संतोष की बात है कि जमीनी स्तर पर तीसरी सरकार के गठन के लिए चल रहे लोकतंत्र के इस पावन पर्व में जगह—जगह से प्रतिनिधियों के निर्विरोध निर्वाचित होने की भी खबरे हैं। अब तक 69,541 ग्राम पंचायत सदस्य, 85 ग्राम प्रधान 550 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 01 जिला पंचायत सदस्य (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव में निर्वाचित हो चुके हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *