दिल्ली में खुलेंगे स्कूल, कोरोना के तीसरी लहर को रोकने के लिए एक्शन में केजरीवाल

संतोष कुमार सिंह
नयी दिल्ली: ए​क तरफ दिल्ली में स्कूल खोलने की तैयारियां हो रही हैं वहीं दूसरी तरफ कोरोना के तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर सरकार की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं ताकी कोरोना के बढ़ती हुई आक्रामकता और बढ़ते हुए आंकड़े पर विराम लगाया जा सके।
क्या है तैयारियां
दिल्ली आपदा प्रबंधन अथॉरिटी (डीडीएमए) ने ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है। इसके तहत राजधानी में कोरोना से संबंधित गतिविधियों का संचालन किया जाएगा।
क्या है एक्शन प्लान
कोरोना के तीसरी लहर को रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने चार प्रकार के एक्शन प्लान निर्धारित किया है। यानी चार प्रकार का अलर्ट निर्धारित किया गया है जिसे चार अलग-अलग रंगों के आधार पर तय किया गया है। जिसके आधार पर कोरोना के मामले बढ़ने या घटने पर लॉकडाउन लगेगा, नहीं लगेगा या छूट जैसे फैसले लिए जा सकेंगे। इतना ही नहीं स्वास्थय महकमे के एडिशनल चीफ सेक्रेट्री की जिम्मेदारी तय की गई है कि वह अलर्ट को लेकर सुबह शाम मीडिया को अपडेट करेंगे।

कोरोना के तीसरी लहर ….ये चार रंग निर्धारित करेंगे कितना अलर्ट रहने की है जरूरत
यलो अलर्ट

यलो अलर्ट यानी पीला अलर्ट तब जारी किया जाएगा, जब लगातार दो दिनों तक संक्रमण दर 0.5 तक पहुंचने, रोजाना नए मामले 1500 तक जाने और 500 तक ऑक्सीजन युक्त बेड भर जाएं। इसके बाद इस इलाके में कंस्ट्रक्शन, निर्माण गतिविधियों और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने की अनुमति होगी। इसके अलावा गैर-जरूरी सामान और सेवाओं की दुकानें और प्रतिष्ठान और मॉल ऑड-ईवन फॉर्मूले के आधार पर सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक खुलेंगे। 50 फीसदी वेंडर के साथ प्रति जोन में सिर्फ एक साप्ताहिक बाजार को खोलने की अनुमति होगी।
साथ ही साथ दिल्ली सरकार के ऑफिसों में ए ग्रेड ऑफिसर्स 100 पर्सेंट आ सकेंगे। बाकी 50 पर्सेंट स्टाफ ही बुलाए जा सकेंगे। प्राइवेट ऑफिसों में 50 पर्सेंट स्टाफ होंगे। दुकानें ऑड-ईवन के आधार पर सुबह 10 से रात 8 बजे तक खुलेंगी। ऑड-ईवन बेस पर मॉल सुबह 10 से रात 8 बजे तक खुलेंगे। हर जोन में 50 प्रतिशत वेंडर के साथ एक वीकली मार्केट ही चलेगा। रेस्टोरेंट और बार 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेंगे। पब्लिक पार्क खुलेंगे। होटल खुलेंगे। बार्बर शॉप खुलेंगी। सिनेमाघर, थिएटर, बैंक्विट हॉल, जिम, एंटरटेनमेंट पार्क बंद रहेंगे। दिल्ली मेट्रो और बसों में सीटिंग कैपिसिटी के हिसाब से 50 फीसदी लोग सफर करेंगे। स्टैंडिंग की इजाजत नहीं होगी। नाइट कर्फ्यू रात 10 से सुबह 5 तक रहेगा। स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बंद रहेंगे। स्वीमिंग पूल बंद रहेंगे। ऑटो, ई-रिक्शा में दो सवारी, टैक्सी-कैब, ग्रामीण सेवा, फटफट सेवा में दो सवारी, मैक्सी कैब में 5 सवारी, आरटीवी में 11 सवारी बैठेंगी।


अंबर अलर्ट
दिल्ली सरकार ने निर्धारित किया है कि अंबर अलर्ट तब लागू होगा जब संक्रमण दर एक फीसद हो, नए मामले 3500 तक पहुंच जाए एवं 700 तक ऑक्सीजन युक्त बेड भर जाएं। ‘अंबर’ अलर्ट के दौरान, निर्माण, विनिर्माण गतिविधियों और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों और प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति होगी। ‘अंबर’ अलर्ट के दौरान निर्माण, विनिर्माण गतिविधियों और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों और प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति होगी. गैर-जरूरी वस्तुओं और सेवाओं की दुकानें और मॉल ऑड-ईवन फॉर्मूले के आधार पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगे। 50 फीसदी वेंडर के साथ प्रति जोन में सिर्फ एक साप्ताहिक बाजार को खोलने की अनुमति होगी।
इस दौरान खाने पीने के सामाग्री की होम डिलिवरी की इजाजत मिलेगी। बार्बर शॉप और जिम भी बंद होंगे। दिल्ली मेट्रो में सीटिंग कैपिसिटी के हिसाब से 33 फीसदी लोगों को चलने की इजाजत होगी। बसों में सीटिंग कैपिसिटी के हिसाब से 50 फीसदी यात्री सफर करेंगे। ऑटो, ई-रिक्शा में दो सवारी, टैक्सी-कैब, ग्रामीण सेवा, फटफट सेवा में दो सवारी, मैक्सी कैब में 5 सवारी, आरटीवी में 11 सवारी बैठेंगी। नाइट कर्फ्यू और वीकेंड कर्फ्यू रहेगा। पब्लिक पार्क बंद ही रखा जायेगा।                                                                                               ………कोरोना के तीसरी लहर
ऑरेंज अलर्ट
नारंगी यानी आॅरेंज अलर्ट तब लागू होगा जब संक्रमण दर दो फीसद को पार कर जाए, नए मामले 9000 तक चले जाएं और 1000 तक ऑक्सीजन युक्त बेड भर जाएं। इस अलर्ट के अनुसार कंस्ट्रक्शन का वही काम होगा, जहां साईट पर लेबर रह रही हैं। इंडस्ट्री, प्रोडक्शन और मैन्युफैक्चरिंग यूनिंट बंद होंगी। ऑनसाइट वर्कर के साथ जरूरी चीजों की इंडस्ट्री खुलेंगी। जरूरी चीजों को छोड़कर सभी दुकानें बंद रहेंगी। स्टैंड अलोन दुकानें सुबह 10 से शाम 6 बजे तक खुल सकती हैं। मॉल्स बंद रहेंगे। वीकली मार्केट बंद होंगे। दिल्ली मेट्रो बंद होगी। बसों में सीटिंग कैपिसिटी के हिसाब से जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही इजाजत होगी, वह भी 50 फीसदी क्षमता के साथ।

रेड अलर्ट
लाल अलर्ट यानी रेड अलर्ट सबसे ऊंचा स्तर है और यह तब लागू होगा जब संक्रमण दर पांच फीसद से अधिक हो जाए, या लगातार 7 दिनों तक नए मामले 16000 हो जाएं और 3000 तक ऑक्सीजन युक्त बेड भर जाएं। इस दौरान ऑनसाइट मजदूरों के साथ निर्माण गतिविधियों, आवश्यक वस्तुओं के औद्योगिक निर्माण, राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा संबंधी प्रस्तुतियों की अनुमति होगी, जबकि मॉल और साप्ताहिक बाजार बंद रहेंगे। स्टैंडअलोन गैर-जरूरी दुकानें खुल सकती हैं। मेट्रो बंद। 50 फीसदी सीटिंग कैपिसिटी के साथ बसों में केवल जरूरी सेवाओं के लोगों को ही इजाजत दी जाएगी।

अब यदि स्कूल खोलने की तैयारियों की बात करें तो दिल्ली सरकार ने कोरोना के तीसरी लहर की आशंका के बावजूद दिल्ली के स्कूलों को सशर्त खोलने की ईजाजत दे दी है। केवल कक्षा 10 और 12 के लिए स्कूल खोला जाएगा। इस दौरान इन कक्षाओं के छात्र अपने एडमिशन से जुड़े काम के लिए, काउंसलिंग और प्रैक्टिकल्स के लिए स्कूल जा सकते हैं। सरकार का कहना है कि इन दोनों क्लासेज के अलावा, बाकी स्टूडेंट्स के लिए स्कूल बंद ही रहेंगे। कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टिट्यूट, कोचिंग इंस्टिट्यूट भी बंद रहेंगे। ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। ………कोरोना के तीसरी लहर
स्कूलों में फिर से लगाए जायेंगे हेल्थ कैंप
दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) द्वारा कहा गया है कि कि स्कूलों में हेल्थ चेकअप कैंप फिर से लगाए जा सकते हैं। स्कूलों की हेल्थ चेकअप और रेफरल सेवाएं फिर से चल सकती हैं। हर उम्र के बच्चे अपने पैरंट्स के साथ इन सेंटर्स में जा सकते हैं। इसके लिए शिक्षा निदेशालय गाइडलाइंस भी जारी करेगी और इसी के तहत स्कूल इन स्टूडेंट्स के लिए खोले जाएंगे।                                                                        ………कोरोना के तीसरी लहर

उल्लेखनीय है कि स्कूलों को खोलने के लिए दिल्ली सरकार ने पैरंट्स, टीचर्स से सुझाव भी मांगे थे। इस दौरान सरकार के पास करीब 35 हजार लोगों से सुझाव मिले हैं और इनकी समीक्षा की जा रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *