मिट्टी के दीये के साये में हम बनाये रखें अपना अस्तित्व

“छठ में आकाश का सूरज बहुत कम-कम है, मिट्टी के दीये बहुत-बहुत ज्यादा!” इसलिए मेरे मित्र चन्दन श्रीवास्तव कहते हैं कि छठ पंडित के ‘पतरा’ का नहीं ‘अंचरा’ का परब है। यानी “छठ की कथा नहीं हो सकती, उसके गीत हो सकते हैं। गीत ही छठ के मंत्र होते हैं। छठ के गीतों में अपना …

मिट्टी के दीये के साये में हम बनाये रखें अपना अस्तित्व Read More »