देश को नाज, लेकिन शहीद को गांव में 3 डिसमिल जमीन मयस्सर नहीं

संतोष कुमार सिंह देश बदल रहा है। आगे बढ़ रहा है। गांव भी अब मॉडल हो गया है यानी आदर्श। लेकिन ये सब सिर्फ नारे मात्र ही लगते हैं। जब वह देश, वह गांव इस बदलाव के झूठे नारों के बीच अपने शहीद के लिए 3 डिसमिल जमीन भी देने को तैयार नहीं होता। सिर्फ …

देश को नाज, लेकिन शहीद को गांव में 3 डिसमिल जमीन मयस्सर नहीं Read More »