अधकचरा शहरीकरण, मीठे खेतों में जहर की राख

रविशंकर रवि जब भी गांव की चर्चा होती है तो मेरी स्मृति में अपना ननिहाल महेशामुंडा सजीव हो उठता है। महेशामुंडा बिहार के भागलपुर जिले में कहलगांव के निकट एक बड़ा गांव है। जहां मैंने गांव को जीया है, मधुर स्मृतियां, कई तरह के अनुभव मिले। इसलिए वह गांव मुझे हमेशा खींचता था। लेकिन कुछ …

अधकचरा शहरीकरण, मीठे खेतों में जहर की राख Read More »