बंद होठों की चीत्कार ‘धुमकुड़िया’

जीतेन्द्र सिंह धुमकुड़िया नागपुरिया भाषा में बनी फिल्म लीक से हट कर बनाई गयी है,जो निर्देशक की जीवन में प्राप्त अनुभवों से बनी है। यह फिल्म स्थानीय स्तर पर अपने समाज की बात कहती है,लेकिन उसका प्रभाव पुरे विश्व के आदिवासियों के लिए समानांतर रूप से सामान्य हो जाता है। ‘धुमकुड़िया’ झारखंड के आदिवासियों लड़कियों …

बंद होठों की चीत्कार ‘धुमकुड़िया’ Read More »