MUJAFFARPUR

ग्राम आर्थिक दृष्टि से समृद्ध हुए… लेकिन टूटी है सामाजिक एकजुटता

प्यारे मोहन त्रिपाठीमेरा गांव उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के मनियाहू तहसील में हरद्वारी है। ये तीन तरफ से नदियों से घिरा हुआ है। मेरी उम्र अभी लगभग 84 साल है लेकिन गांव में सड़क नहीं है। जब पीछे मुड़ कर देखता हूं तो गांव खेती किसानी दृष्टि से खुशहाल था। खेती-बाड़ी ही मुख्य पेशा …

ग्राम आर्थिक दृष्टि से समृद्ध हुए… लेकिन टूटी है सामाजिक एकजुटता Read More »

मुजफ्फरपुर के लीचिया खिअइह बालमा…..

आलोक रंजन, युवा पत्रकार भोजपुरी कोकिला शारदा सिन्हा का गीत है- मुजफ्फरपुर (बिहार) के लीचिया खिअइह बालमा हो मुजफ्फरपुर …। इस शाही लीची को देखकर मुंह में पानी आ जाता है। खाने पर तो समझिए सीधा स्वर्ग की अनुभूति होती है। लेकिन इस बार तो खुद के लिए ही लाले पर जाएंगे। न बलमा धनी …

मुजफ्फरपुर के लीचिया खिअइह बालमा….. Read More »