GPF

देशज भाषा में कैसे हो पर्यावरण पत्रकारिता ये अनुपम मिश्र से सीखा: रवीश कुमार

 संतोष कुमार सिंह सखिया वा घर सबसे न्यारा..सखिया वा घर सबसे न्यारा जहां नहीं सुख—दुख, सांच झूठ नहीं..पाप न पुण्य पसारा ……सखिया वा घर सबसे न्यारा… जहां पूर्ण पुरूष हमारा ..सखिया वा घर सबसे न्यारा। …………….उड़ जाएगा हंस अकेला..जग दर्शन को आएगा। जी हां,हंस अकेला ही उड़ गया है लेकिन उनकी कर्म भूमी रही गांधी शांती प्रतिष्ठान …

देशज भाषा में कैसे हो पर्यावरण पत्रकारिता ये अनुपम मिश्र से सीखा: रवीश कुमार Read More »

आर्थिक सुधार की प्रक्रिया खेती-किसानी को बाईपास कर आगे निकली: आनंद प्रधान

हमारे नीति निर्माता जिस तरह से बाजार या शहर के बीच से भीड़-भाड़ को कम करने के लिए बाईपास सड़क बनाते हैं वैसे ही किसानों को बाईपास करके आगे बढ़ने की प्र​वृति बढ़ी है। हम देखते है कि पूरी आर्थिक सुधार की प्रक्रिया खेती को बाईपास करके आगे निकल गई है। संतोष कुमार सिंह नयी …

आर्थिक सुधार की प्रक्रिया खेती-किसानी को बाईपास कर आगे निकली: आनंद प्रधान Read More »