गंगा का कोप..कभी जमींदार थे,अब बसने लायक जमीन भी नहीं बची

नीरज प्रताप सिंह दो दिन से रौनक बाबू गंगा स्नान की जिद लगाए हुए था,सो आज उसे ले गया गंगा स्नान को,पहली बार आये थे इस घाट पर नहाने। वे नदी में डुबकी लगा रहे थे, पानी के साथ किलोल कर रहे थे। जब तक वे किनारे पहुंचे तो बहुत सारी पुरानी बातें चलचित्र की …

गंगा का कोप..कभी जमींदार थे,अब बसने लायक जमीन भी नहीं बची Read More »