अनदेखी व अतिक्रमण से छोटी सरजू हुईं भूमिगत

पंचायत खबर टोली मऊ : “ मां निषाद त्वं गमं: शास्वती समा यत क्रौंच मिथुनामेदिकम्…” इस आदि छंद की उदगात्री पौराणिक नदी तमसा आज प्यासी और प्रदूषित हो गई है। पुराणों के अनुसार कामभाव से लिप्त क्रौंच पक्षी के जोड़े में से एक को बेधने के पश्चात दूसरे के आर्त स्वर से द्रवित महर्षि वाल्मिकी …

अनदेखी व अतिक्रमण से छोटी सरजू हुईं भूमिगत Read More »