ज्यादा घांस काटने पर पुरस्कार में मिला चांदी का मुकुट

पंचायत खबर टोली घनसाली (टिहरी): अक्सर लोगों में मुंह से यह सुना जाता है कि पढ़ोगे नहीं तो बड़े होकर घांस काटोगे। यानी घांस काटना मतलब बेवकूफ होना। सबसे निकृष्टतम पेशा अपनाना। मानो, घास काटने वाला अनपढ़, जाहिल, गँवार और अनाड़ी ही होगा। लोग यह भी कहते हैं कि‘’मुझे भी जिन्दगी का काफी तजुर्बा है, …

ज्यादा घांस काटने पर पुरस्कार में मिला चांदी का मुकुट Read More »