ग्रामोन्मुखी हो बजट.. उम्मीद का दीया अभी बुझा नहीं है

दीप प्रकाश ‘बजट’ चाहे घर का हो या देश का, मायने तो रखता ही है. यह निश्चित पर देश,समाज,गांव—शहर की दिशा तय करता है।  वर्तमान में श्रम ब्यूरो की रिपोर्ट की मानें तो अखिल भारतीय स्तर पर बेरोजगारी दर पांच फीसद पर पहुँच गयी है. ग्रामीण क्षेत्रों में यह दर ५.१ फीसद है. मतलब सवा …

ग्रामोन्मुखी हो बजट.. उम्मीद का दीया अभी बुझा नहीं है Read More »