June 06, 2020

मोदी का तीसरा आदर्श गांव होगा ककरहियां…गांव पहुंच योगी ने की घोषणा

आलोक रंजन

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गावों को आदर्श बनाने का जो सपना देश के सांसदों के समक्ष रखा था, उसे भले ही अन्य सांसदों का पूरा सहयोग न मिला हो,लेकिन मोदी अपने स्तर पर इसे पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ा रहे है। प्रधानमंत्री ने इच्छा जताई थी कि प्रत्येक सांसद अपने कार्यकाल में तीन गांव गोद ले। उन्हें आदर्श बनाये। मोदी ने जयापुर,नागेपुर के बाद तीसरे आदर्श गांव के रूप में ककरहिया को गोद ले लिया है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ककरहिया जाकर इसकी घोषणा की।

मोदी के तीसरे गांव का एलान

प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र में तमाम कार्यक्रमों के कारण व्यस्तता के बावजूद योगी आदित्यनाथ बारिश के बीच रोहनियां विंधानसभा के ककरहियां गांव पहुंचे। इस मौके पर योगी ने एलान किया कि ककरहिया गांव को प्रधानमंत्री मोदी ने आदर्श ग्राम के रूप में गोद लिया है। योगी ने मंच से संबोधन में कहा कि पीएम ने तीन-तीन गांव सांसद आदर्श गांव चयन करने के लिए कहा था। उसी में तीसरा गांव ककरहियां है जिसका सांसद आदर्श ग्राम के रूप में चयन किया गया है। शहर से लगभग 15 किलोमीटर दूर इस गांव की आबादी लगभग दो हजार है। इस गांव में राजपूत और पटेल बिरादरी के लोग अधिक हेे।

ग्रामीणों से मिले योगी

प्राथमिक विद्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि गांवों को स्वावलंबी और स्मार्ट बनाने के लिए केंद्र सरकार भरपूर मदद कर रही है। गांवों में शहर जैसी सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से ही प्रधानमंत्री ने सांसद आदर्श ग्राम योजना शुरू की है।

आदर्श गांव में महिलाओं और युवाओं के लिए कंप्यूटर प्रशिक्षण, रोजगारपरक प्रशिक्षण केंद्र और रोजगार केंद्रों जैसी सुविधाएं भी होंगी।  प्रधानमंत्री के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि गांवों के विकास के दृष्टिकोण से पहली बार किसी सरकार ने सोच पैदा की है। सांसद आदर्श गांव में वह सभी बुनियादी सुविधाएं होंगी, जो एक नागरिक का अधिकार होती हैं।इन्हीं के आधार पर अन्य गांवों का भी सर्वांगीण विकास होगा।

ग्राम प्रधान इच्छाशक्ति से बदलेगा गांव

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर ग्राम प्रधान थोड़ी सी भी इच्छाशक्ति पैदा कर लें तो गांव का विकास बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है। अब तो केंद्र सरकार आबादी के हिसाब से पैसा देती है। जैसे किसी गांव की जनसंख्या चार हजार है तो उसे एक वर्ष में विकास के लिए केंद्र सरकार की ओर से 40 लाख रुपये आसानी से मिल जाएंगे। इसके अलावा प्रदेश सरकार विकास कार्यों के लिए अलग से पैसे देती है।

उन्होंने कहा कि सभी लोग बिजली का कनेक्शन जरूर लें, मीटर लगवाएं और उपभोग के अनुसार बिल का नियमित भुगतार करें। ऐसा होने पर आज जिन गांवों को 18 घंटे बिजली मिल रही है, उन्हें 24 घंटे बिजली मिलने लगेगी।

वितरि​त किया सोलर चरखा

ककरहिया स्थित प्राथमिक विद्यालय में सभा के दौरान सीएम योगी ने गांव की लक्ष्मीना, संध्या, रूबी, प्रमिला और मन्नी को सोलर चरखा वितरित किया। आत्मनिर्भर बनने के लिए उनकी हौसलाअफजाई की।

कक्षा आठ की दीपाली पांडेय, साहिमा पटेल और कक्षा पांच के संदेश पटेल, शुभम और रोहित को यूनिफार्म, जूता-मोजा और पुस्तकें वितरित कीं। मुख्यमंत्री के हाथों किताब और यूनिफार्म पाकर बच्चों का उत्साह देखते ही बन रहा था। उन्होंने सीएम को भरोसा दिलाया कि वे अच्छे से पढ़ाई करेंगे और अपने मां-बाप का नाम रोशन करेंगे। इसके बाद सीएम ने विद्यालय परिसर में पारिजात का पौधा लगाया और नवनिर्मित नंद घर का लोकार्पण किया।

 

 

 

About The Author

एक दशक से भी ज्यादा से पत्रकारिता में सकिय। संसद से लेकर दूर दराज के गांवो तक के पत्रकारिता का अनुभव। ग्रामीण समाज व जनसरोकार से जुड़े विषयों पर पत्र पत्रिकाओं में लेखन। अब पंचायत खबर के जरिये आपके बीच।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *