July 14, 2020

कोरोना से उबड़ प्रधानमंत्री की निगहबानी में आत्मनिर्भर बनेगा खगड़िया का तेलिहार पंचायत

पंचायत खबर टोली

  • गांव लोटे प्रवासियों को गांव में ही मिलेगा काम, पीएम मोदी आज लॉन्च करेंगे ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’

खगड़िया: गांव का पानी गांव के काम आये और गांव की जवानी गांव में रह जाये और गांव की उत्पादकता को बढ़ाने में ग्रामवासी अपना योगदान दे तभी आत्मनिर्भर गांव का सपना साकार हो सकता है। विगत दो माह में बिहार, उत्तर प्रदेश और ओड़ीसा के अन्य गांव की तरह ही खगड़िया के तेलिहार पंचायत में भी बड़ी संख्या में प्रवासी अन्य राज्यों से लौट कर आये। इतना ही नहीं प्रवासियों के लौटने के साथ कोरोना का खतरा भी गांव आया और कोरोना से एक व्यक्ति के मृत्यु के बाद इस गांव को कंटेनमेंट जोन भी घोषित करते हुए सील कर दिया गया था। लेकिन अब तेलिहार पंचायत के लिए बड़ी खबर है और इस पंचायत से 20 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत गरीब कल्याण योजना का शुभारंभ किया जाएगा। इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

 

प्रधानमंत्री के डिजिटल अगवानी को तैयार है ते​लिहार पंचायत
प्रधानमंत्री के अगवानी को तैयार तेलिहार पंचायत के विकास और आत्मनिभर्रता के सपने को उस समय पंख लगे जब मुख्यमंत्री नी​तीश कुमार ने तेलिहार पंचायत के वार्ड नंबर 6 में पधार कर विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन किया। ऐसे में आनन—फानन में तेलीहार पंचायत के कुछ वार्ड में नल जल योजना के तहत कार्य तो युद्ध स्तर पर किया गया। हालांकि मात्र 99 पंचायत के ग्रामीणों को पानी पीने के लिए कनेक्शन दिया गया। वही तेलिहार पंचायत के एकसठ बासा जाने वाले रास्ते ऐसे थे कि प्रसव कराने के लिए महिला को बेलदौर पीएचसी आना हो तो उसे खटिया पर टांग कर पीएचसी लाना पड़े। लेकिन कहते ​हैं न कि सपने में जान होती है, और महकमा चाहे तो विकास की उड़ान होती है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी चार जनवरी 2020 को बेलदौर के तेलिहार गांव पहुंचकर जल जीवन हरियाली योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत उन्होंने 27 एकड़ मे फैले बैंसी जलकर को विकसित करने सहित कुल 2300 करोड़ की योजानाओं का शिलान्यास और उदघाटन किया था। यह जलकर 24 एकड़ में है। एक पीपल का पौधा लगाया था जो अब नई उम्मीदों का वृक्ष बन चुका है।

क्या कहते हैं अधिकारी
प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए अधिकारियों के गांव आने जाने का सिललिसला शुरू हो गया है। जीविका के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (डीपीएम) अजीत कुमार का कहना है कि 20 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां के लोगों के साथ संवाद करेंगे। बागमती नदी के किनारे अवस्थित खगडिय़ा जिले की तेलिहार पंचायत का चयन आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत किया गया है। यह गौरव पूरे बिहार की इस इकलौती पंचायत को मिला है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस योजना के तहत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए यहां के लोगों से बात करेंगे। यहां सरकार की जो भी योजना है, उसका किसी न किसी रूप में कार्यान्वयन हुआ है। उल्लेखनीय है कि 16 जून को जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने सामुदायिक शौचालय का उद्घाटन किया था। यहां मास्क निर्माण केंद्र, जीविका दीदी द्वारा संचालित सौंदर्य प्रसाधन की दुकान भी चल रही है। वहीं, जब से पंचायत के लाेगों को जानकारी मिली है कि उनकी पंचायत का चयन आत्‍मनिर्भर योजना के तहत हुआ, वे काफी खुश हैं और 20 जून को हो पीएम मोदी के संबोधन का इंतजार कर रहे हैं।

पंचायत में पहुंच रहे है बड़े अधिकारी
पंचायत के लोग खुश हैं। गांव में अधिकारियों के आने जाने का सिलसिला फिर से शुरू हो गया है। खुद स्वच्छ भारत अभियान के डायरेक्टर परमेश्वर अय्यर ने पंचायत का दौरा कर शौचालय एवं स्वच्छता कार्यों का जायजा लिया। वहीं आलोक रंजन घोष ने जिले के सभी प्रमुख अधिकारियों के साथ तेलिहार पंचायत का जायजा लिया। इस दौरान डीएम ने सभी विभाग के पदाधिकारियों को प्रवासियों को रोजगार मुहैया कराने के निर्देश दिए। मालूम हो कि यहां 475 प्रवासी आए हैं। इस मौके पर निजी तालाब निर्माण को लेकर इच्छुक किसानों से आवेदन भी लिए गए। जीविका के राज्य परियोजना प्रबंधक पुष्पेंद्र तिवारी ने जीविका दीदियों को ज्यादा से ज्यादा मास्क निर्माण करने को कहा।  मालूम हो कि तेलिहार में प्रतिदिन एक हजार मास्क तैयार किए जा रहे हैं।


आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है तेलिहार गांव
खगड़िया के तेलिहार गांव की महिला नीतू कुुमारी जीविका से 12 हजार रुपया लोन लेकर अपना एक दुकान की शुरुआत की थी और आज दस हजार रुपये महीना कमाकर अपने पूरे परिवार का भरण पोषण कर रही हैं। यह एक उदाहरण है, लेकिन गांव में कई ऐसी महिलाएं हैं जिनके लिए जीविका वरदान बनी और वह उससे जुड़कर आत्मनिर्भर हो सकीं।
इस कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे प्रधानमंत्री
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को बताया कि प्रवासी श्रमिकों और गांव के लोगों को सशक्त बनाने और आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए भारत सरकार ने एक व्यापक ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ शुरू करने का निर्णय लिया है। 116 जिलों के 25 हजार से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों के साथ इस अभियान में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा इन 6 राज्यों को चुना गया है, जिसमें इच्छा जताने वाले 27 जिले शामिल हैं। इन जिलों से दो तिहाई प्रवासी श्रमिकों के लाभान्वित होने का अनुमान है।
यह अभियान 12 विभिन्न मंत्रालयों/विभागों- ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, खान, पेयजल और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नई और नवीकरणीय ऊर्जा, सीमा सड़क, दूरसंचार और कृषि का एक समन्वित प्रयास होगा।

तेलीहार पंचायत के बाद बाकी राज्यों से भी करेंगे संवाद
बिहार के आत्मनिर्भर भारत योजना खगड़िया जिले के ग्राम-तेलिहार, ब्लॉक- बेलदौर से लॉन्च किया जाएगा। आगे पांच अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री और संबंधित मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्री भी इस वर्चुअल लॉन्च में भाग लेंगे। कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए 6 राज्यों के 116 जिलों के गांव सार्वजनिक सेवा केंद्रों और कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे। 125 दिनों का यह अभियान मिशन मोड में चलाया जाएगा। 50 हजार करोड़ रुपये के फंड से एक तरफ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए विभिन्न प्रकार के 25 कार्यों का तीव्र और केंद्रित होकर क्रियान्वयन होगा, तो दूसरी तरफ देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा।
खगड़िया के लोगों को रोजगार की उम्मीद

सात नदियों से घिरे खगड़िया जिला में बाढ़ और कटाव प्रमुख समस्या है। यहां मक्का का उत्पादन बिहार में सबसे ज्यदा होता है. किसानों के लिए मानसी में एक मेगा फूड पार्क बनने के बाद उम्मीद जगी थी कि खगड़िया के लोगों को रोजगार मिलेगा, लेकिन वह भी अधूरा पड़ा है। ऐसे में प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट गरीब कल्याण रोजगार मिशन के तहत रोजगार दिलाना जिला प्रशासन के लिए चुनौती पूर्ण होगा, हालांकि तेलीहार सहित अन्य पंचायतों के लोगों की उम्मीदों को पंख लग गया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *