December 14, 2018

ट्रेड फेयर में याद किये जायेंगे बिरसा मुंडा.. झारखंड है मेले का प्रमुख सहभागी

संतोष कुमार सिंह
नयी दिल्ली: प्रगती मैदान गुलजार है। सज—धज कर ट्रेड फेयर को तैयार है। हालांकि देश भर में नोटबंदी से अफरा-तफरी मची हुई है। बावजूद इसके हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान में 36वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का शुभारंभ होने जा रहा है। बड़ी बात यह है कि अपनी आदिवासी संस्कृति और खान खनिज के लिए जाने वाला झारखंड इस वर्ष के मेले में विशेष सहभागी प्रदेश की भूमिका में है। प्रदेश के लोकसंस्कृति और मानस को रेखांकित करने वाले भगवान बिरसा मुंडा की जयंती उद्घाटन समारोह के साथ मनाई जाएगी।

birsa-munda
प्रगति मैदान के गेट नंबर -4 के सामने स्थित झारखंड पैवेलियन का उद्घाटन शहरी विकास मंत्री सी पी सिंह के हांथो होगा। वैसे तो इस वर्ष प्रगती मैदान में लगने वाले मेले की थीम है डिजिटल इंडिया। झारखंड भी आयोजकों के कांधे से कांधा मिलाते हुए एक तरफ प्रदेश में चल रहे डिजिटल गतिविधियों की झांकी प्रस्तुत करेगा, वहीं दूसरी ओर झारखंड के साथ इसकी पारम्परिक रीति और आस्था के प्रतीक भी व्यापार मेले में आने वाले आगंतुको को अपनी ओर आकर्षित करेगा। यही कारण है कि झारखंड पैवेलियन में डिजिटल झारखंड के साथ इसकी पारम्परिक रीति और आस्था के प्रतीकों को शानदार ढंग से चित्रित किया गया है।
यदि झारखंड पवेलियन के निदेशक राजेंद्र प्रसाद कहते हैं कि व्यापार मेले में इस वर्ष भी हमारी सहभागिता पर बहुत ही गर्व की बात है। । पवेलियन में प्रदेश की तमाम उपलब्धियों और प्रेरणास्रोतों को प्रदर्शित किया जा रहा है। साथ ही इस वर्ष पवेलियन में कुल 56 स्टॉल होंगे। 24 नवंबर को झारखंड दिवस मनाने की योजना की जानकारी देते हुए राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि पवेलियन में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017 पर भी विशेष जोर दिया जाएगा।

birsaaaa

झारखंड पवेलियन में इस वर्ष सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, कृषि, पशु पालन, कोऑपरेटिव, इंडस्ट्री, मिबेस, पर्यटन, युवा, कला एवं संस्कृति, सूचना प्रौद्योगिकी, वन, झारक्राफ्ट, खादी बोर्ड, झुलका लैंप, जियादा, लघु उद्योग और सोलर इंडस्ट्री विभाग को भी प्रमुख रूप से प्रर्दशित किया जाएगा।
खनिज संपदा से परिपूर्ण प्रदेश झारखंड देश की कुल खनिज संपदा का 40 प्रतिशत हिस्से को समेटे हुए है। ऐसे में स्वाभाविक तौर पर इससे जुड़े व्यवसाय और उत्पादन संबंधी देश की प्रमुख कंपनियां भी इस प्रदेश की ओर रूख करती हैं। इसके मद्देनजर खनिज और कंपनियों से जुड़ी तमाम जानकारियां पवेलियन में उपलब्ध रहेंगी। साथ ही यहां प्रादेशिक वस्तुओं का विक्रय केंद्र भी बनाया गया है, जहां से मेले में आने वाले दर्शक क्षेत्रीय उत्पादों की खरीदारी कर सकेंगे।

झारखंड भवन में भी बिरसा की जयंती
मुख्यमंत्रीरघुवर दास ने जनजातीय परामर्शदातृ परिषद् झारखंड सरकार के सदस्य रतन तिर्की को झारखंड भवन दिल्ली में बिरसा मुंडा जयंती झारखंड स्थापना दिवस आयोजित करने की जिम्मेवारी दी है। तिर्की ने बताया कि वीर बिरसा मुंडा जयंती झारखंड स्थापना दिवस की तैयारी के लिए वे दिल्ली जाएंगे। दिल्ली के आदिवासी संगठनों से भी संपर्क किया गया है संगठनों समुदाय के लोगों ने भाग लेने की सहमति दी है सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

About The Author

एक दशक से भी ज्यादा से पत्रकारिता में सकिय। संसद से लेकर दूर दराज के गांवो तक के पत्रकारिता का अनुभव। ग्रामीण समाज व जनसरोकार से जुड़े विषयों पर पत्र पत्रिकाओं में लेखन। अब पंचायत खबर के जरिये आपके बीच।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *