November 16, 2019

सरकार जल्द ही सभी गांवों को ग्रामनेट के माध्यम से वाई-फाई से जोड़े की योजना साकार करेगी

 

जब भारत महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मना रहा है, तो यह बापू के लिए एक वास्तविक श्रद्धांजलि होगी, जिन्होंने एक आत्मनिर्भर भारतीय गांव का सपना देखा था।

सरकार ने ग्रामनेट के माध्यम से सभी गांवों में 10 एमबीपीएस से 100 एमबीपीएस की स्पीड़ के साथ कनेक्टिविटी प्रदान करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया है। यहां C-DOT के 36 वें स्थापना दिवस समारोह में अपनी बात रखते हुए संचार राज्य मंत्री संजय शामराव धोत्रे ने कहा कि भारतनेट(BharatNet) योजना के तहत 1 जीबीपीएस कनेक्टिविटी प्रदान करने की भी है, जिसे 10 जीबीपीएस और सी-डॉट के एक्सजीएस तक विस्तारित किया जा सकता है। आज लॉन्च किया गया सी-डॉट के एक्सजीएस पॉग इसे प्राप्त करने के लिए एक शानदार तरीके से मदद करेगा। उन्होंने कहा, जब भारत महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मना रहा है, तो यह बापू के लिए एक वास्तविक श्रद्धांजलि होगी, जिन्होंने एक आत्मनिर्भर भारतीय गांव का सपना देखा था।

जानकारी के मुताबिक सी-डॉट की सी-सत-फाई तकनीक विशेष रूप से ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सशक्त बनाएगी, इसके माध्यम से टेलीफोन और वाई-फाई की सुविधा देश के सभी कोनों में किसी भी मोबाइल फोन पर उपलब्ध होगी। यह नई तकनीक ऐसे क्षेत्रों के लिए विशेष लाभदायक सिद्ध होगी जहां फाइबर नेटवर्क बिछाना मुश्किल है और इंटरनेट उपलब्ध नहीं है।

सी-सत-फाई (सी-डॉट सैटेलाइट वाईफाई) वायरलेस और उपग्रह संचार के उपयोग पर आधारित एक तकनीक है, जो दूरदराज क्षेत्रों में कनेक्टिविटी का विस्तार करती है। इस तकनीक को लागू करना बेहद सरल है और आपदाओं एवं आपात स्थितियों में इसका प्रयोग बेहद सार्थक है, जब संचार का कोई अन्य साधन उपलब्ध नहीं होता है। इस लागत प्रभावी समाधान के लिए महंगे सैटेलाइट फोन की आवश्यकता नहीं है और यह किसी भी वाईफाई सक्षम फोन पर काम कर सकता है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *